दिल्ली दर्शन दिल्ली का इतिहास

इंडिया गेट ऑल इंडिया वॉर मेमोरियल। अमर जवान ज्योति।history of india gate

इंडिया गेट

 

यदि आप केंद्रीय सचिवालय से राजपथ पर चलें तो आप बहुत ऊंची मेहराबों पर बनी इंडिया गेट की इमारत को देखेंगे। इस 42 मीटर ऊंची स्लेट रंग की इमारत का वास्तविक नाम ऑल इंडिया वॉर मेमोरियल है। इसे प्रथम विश्व युद्ध में शहीद हुए भारतीय सेना के 70,000 जवानों की याद में बनाया गया था। 10 फरवरी 1921 को डयूक ऑफ़ कनॉट ने इंडिया गेट की नींव डाली थी। इसके मेहराबदार दरवाजे पर शहीदों के नाम खुदे हुए हैं। जिससे कि सारा संसार उन अमर आत्माओं को याद कर सके , जिन्होंने अपना जीवन बलिदान कर देश की रक्षा की थी।

इस दरवाजे पर बनी सीढ़ियां ऊपर छत की तरफ जाती है। किसी समय में इसे फोटोग्राफी और आगंतुकों को देखने के लिए इस्तेमाल किया जाता था। पर अब इन सीढ़ियों को आम आदमियों के चढ़ने के लिए बंद कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें -क़ुतुब मीनार के कुछ रोचक बाते 

 

इस दरवाजे के बीच में एक अमर जवान ज्योति जल रही है और इसके बीचो-बीच उल्टी बंदूक के ऊपरी हिस्से में एक हेलमेट रखा गया है जोकि अमर जवानों की याद दिलाता है।

 

यह भी पढ़ें – जमा मस्जिद का इतिहास कब और किसने बनवाया 

 

 

अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसको ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाएं  |

व्हाट्सप्प और फेसबुक के माध्यम से शेयर करें |

और हमारा एंड्राइड एप्प भी डाउनलोड जरूर करें

कृपया अपने सुझावों को लिखिए हम आपके मार्गदर्शन के अभिलाषी है 

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *