गीत संग्रह

चिरविजय की कामना ले। विजयादशमी उत्सव हेतु गीत।Vijaydashmi song | आरएसएस उत्सव।

चिरविजय की कामना ले। विजयादशमी उत्सव हेतु गीत।

Vijaydashmi song lyrics | आरएसएस उत्सव।

 विजयादशमी उत्सव हेतु गीत

चिरविजय की कामना ले , कर्म पथ पर चल  तरूण मन। 

संगठन की साधना में ,प्राण अर्पित और तन – मन। । २ 

 

पतित पावन राम ने थे , गिरी अरण्य महान घूमे। 

छोड़कर माया अवध की , ऋषिजनों के पांव चूमे। 

दीं दुखियों पर दया के , अश्रू कण छलके वरुण वन। 

                                     चिर विजय ………… 

 

भक्ति का धुव भाव लेकर , बढ़ चलो तुम ध्येय पथ पर। 

पवन सूत  की शक्ति लेकर , बढ़ चलो तुम गेय बनकर। 

फिर उदित इठला रहा है , आज राघव के नयन बन। 

                                  चिर विजय …………

 

टूट विद्युत के पड़ो तुम ,राक्षस की वृत्तियों पर। 

गिर पड़ो तुम आज फिर से , वज्र बन आपत्तियों पर। 

पाश नागों के चले है , काट डालो तुम गरुड़ बन। 

                                   चिर विजय …………..

 

यह भी जरूर पढ़ें – 

अगस्त माह हेतु गीत | rss august maah ka geet | rss geet lyrics

संगठन हम करे आफतों से लडे | हो जाओ तैयार साथियो | rss geet lyrics |

आरएसएस गीत | septembar geet in rss | vishwa gagan par fir se gunje |

संघ की प्रार्थना। नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे।आरएसएस। 

हमें वीर केशव मिले आप जब से। एकल गीत। RSS BEST EKAL GEET |

 

दोस्तों हम पूरी मेहनत करते हैं आप तक अच्छा कंटेंट लाने की | आप हमे बस सपोर्ट करते रहे और हो सके तो हमारे फेसबुक पेज को like करें ताकि आपको और ज्ञानवर्धक चीज़ें मिल सकें |

अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसको ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाएं  |

व्हाट्सप्प और फेसबुक के माध्यम से शेयर करें |

और हमारा एंड्राइड एप्प भी डाउनलोड जरूर करें

कृपया अपने सुझावों को लिखिए हम आपके मार्गदर्शन के अभिलाषी है 

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *