गीत संग्रह

जाग उठे हम हिन्दू फिर से। आरएसएस गीत।rss song lyrics

जाग उठे हम हिन्दू फिर से। आरएसएस गीत।rss song lyrics

 

जाग उठे हम हिन्दू फिर से

 

जाग उठे हम हिन्दू फिर से ,विजय ध्वजा फहराने। 

अंगड़ाई ले चले पुत्र हैं ,माँ के कष्ट मिटाने।।२ 

जिनके पुत्र महा यशस्वी ,वे फिर क्यों घबराये। 

जिनके सूत अतुलित बलशाली ,शौर्य गगन पर छायें। 

लेकर शस्त्र शास्त्र  को कर में ,शत्रु हृदय दहलाने।।

हम अगस्तय बन महासिंधु को ,अंजुली में पी जाएँ। 

तीन डगों से सृष्टि नाप ले ,कालकूट पी जाएँ। 

पृथ्वी के हम अमर पुत्र है ,जग को चले जगाने।।

हिन्दू भाव को जब जब भूले ,आई विपद महान। 

भाई छूटे धरती  खोई ,मिट गए धर्म संस्थान। 

भूले छोडे और गुंजादें ,जय से भरे भरे तराने।।

यह भी जरूर पढ़ें – 

संगठन हम करे आफतों से लडे | हो जाओ तैयार साथियो | rss geet lyrics |

आरएसएस गीत | septembar geet in rss | vishwa gagan par fir se gunje |

भारत माँ का मान बढ़ाने बढ़ते माँ के मस्ताने। आरएसएस गीत।Rss geet lyrics

अपनी धरती अपना अम्बर।आरएसएस गीत | rss song lyrics

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ | संघ क्या है उसकी क्या विचारधारा है | देश के लिए क्यों जरुरी है संघ

संघ क्या है | डॉ केशव बलिराम हेगड़ेवार जी का संघ एक नज़र में | RSS KYA HAI

गुरु दक्षिणा | गुरु दक्षिणा का दिन एक नजर मे | guru dakshina rss | 

गुरु दक्षिणा| गुरु दक्षिणा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ | गुरुदक्षिणा का उपयोग गुरुदक्षिणा की राशि का खर्च | Rss income source

 

 

 

दोस्तों हम पूरी मेहनत करते हैं आप तक अच्छा कंटेंट लाने की | आप हमे बस सपोर्ट करते रहे और हो सके तो हमारे फेसबुक पेज को like करें ताकि आपको और ज्ञानवर्धक चीज़ें मिल सकें |

अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसको ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाएं  |

व्हाट्सप्प और फेसबुक के माध्यम से शेयर करें |

और हमारा एंड्राइड एप्प भी डाउनलोड जरूर करें

कृपया अपने सुझावों को लिखिए हम आपके मार्गदर्शन के अभिलाषी है 

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *