Hindi stories for all

जो कुआँ खोदता है वही गिरता है | एक बादशाह था | रोचक कहानी | Panchtantra stories

0Shares

जो कुआँ खोदता है वही गिरता है | एक बादशाह था | रोचक कहानी |

ज्ञानपरक कहानी | Panchtantra stories

 

 

जो कुआँ खोदता है वही गिरता है

 

वजीर को यह बिल्कुल पसंद नहीं था कि बादशाह कारिंदे के लड़के से प्यार करें। वह चाहता था कि बादशाह उसके बेटे को प्यार करें और गोद भी ले ले ,जिससे बादशाह के मरने के बाद उसका लड़का बादशाह बने। वजीर जो चाहता था ठीक उसके उल्टा होता था। बादशाह कारिंदे के लड़के को अधिक प्यार करता गया।

 

एक बादशाह था। उसके महल की चारदीवारी में ही वजीर और एक कारिंदे का आवास था।  वजीर और कारिंदे के एक – एक लड़का था। दोनों लड़के आपस में पक्के दोस्त थे। दोनों हमउम्र थे और एक ही कक्षा में साथ साथ पढ़ते थे। दोनों खेलते भी साथ-साथ थे। एक दूसरे के घर आना-जाना खूब था। कारिंदे का लड़का वजीर को चाचा कहता था। और जो भी काम वजीर कराता था वह कर देता था।

बादशाह के कोई संतान नहीं थी। वह कारिंदे के लड़के को बहुत प्यार करता था। बादशाह इतना प्यार करता था ,कि लड़के के लिए महल और दरबार के दरवाजे खुले रहते थे। लेकिन वजीर को यह बिलकुल पसंद नहीं था ,कि  बादशाह कारिंदे के लड़के से प्यार करें। वह चाहता था कि बादशाह उनके बेटे को प्यार करें ,और गोद  भी ले जिससे बादशाह के मरने के बाद उसका लड़का बादशाह बन जाए।

 

वजीर जो चाहता था ,ठीक उसके उल्टा होता था। बादशाह कारिंदे के लड़के को और अधिक प्यार करता गया। वजीर के लड़के से बादशाह का लगाओ पहले ही नहीं था, इसलिए वजीर कारिंदे और उसके लड़के से मन ही मन जलने लगा। ऐसा रास्ता खोजता रहा है जिससे उसका मन चाहा हो जाए जब कोई बात बनती नजर नहीं आई तो उसने सोचा कि कुछ ऐसा किया जाए जिससे ना रहे बांस न बजे बांसुरी।

एक दिन वजीर ने कारिंदे के लड़के को घर बुलाया। घर आने पर वजीर ने उसे एक रुमाल और पैसे देकर गोश्त लाने के लिए कहा। वजीर ने बताया कि गोश्त बाजार में फलां  गली के नुक्कड़ वाली दुकान से लाना है।

लड़के ने रुमाल लिया ,पैसे  संभाले , और चल दिया। रास्ते में कुछ लड़के गुल्ली डंडा खेल रहे थे। उनमें वजीर का लड़का भी था। वजीर के लड़के ने कारिंदे के लड़के को आता देखा तो चिल्ला कर पुकारा भैया कहां जा रहे हैं?

वजीर के लड़के ने कहा दोस्त मैं ले आऊंगा तुम मेरा गांव उतार दो। चाचा ने उस दुकान से गोश्त मंगाया है उसने वजीर के बताए अनुसार दुकान तक पहुंचने का रास्ता बताते हुए उसे रुमाल और पैसे दे दिए। वजीर का लड़का गोस्त  लेने के लिए चला गया और कारिंदे का लड़का दांव  उतारने लगा।

चलते-चलते वजीर का लड़का उसी दुकान पर पहुंचा उसने पैसे और रुमाल देते हुए कहा कि इसमें गोस्त  बांध दो। कसाई ने उस रुमाल को पहचान लिया। इस रुमाल में निशान बना हुआ था। इसी रुमाल को वजीर ने दिखाया था और कहा था कि जो लड़का इस रुमाल को लेकर गोश्त लेने आए उसका काम तमाम कर देना। उसके एवज में वजीर ने पैसे भी दिए थे,इस काम के लिए कसाई के अंदर एक भट्टी जलाकर पूरी तैयारी कर रखी थी।

कसाई ने रुमाल और  पैसे लेकर कहा यहां बैठ जाओ अभी गोश्त बांधता हूं। उस समय दुकान पर कोई ग्राहक नहीं था वजीर का लड़का जैसे ही अंदर पहुंचा कसाई ने उसे पकड़ कर जलती भट्टी में झोंक दिया।

उधर गांव उतारने के बाद कारिंदे का लड़का घर चला आया लगभग दो  घंटे के बाद वजीर अपने घर से निकला उसी समय कारिंदे का लड़का भी अपने घर से निकला। महल की चारदीवारी में ही दोनों का आमना – सामना हो गया वजीर पूछता उससे पहले ही कारिंदे के लड़के ने कहा ! चाचा भैया गोश्त ले आए ? इतना सुनते ही जैसे वजीर को सांप ने डस लिया। फिर कारिंदे का लड़का बोला चाचा रास्ते में भैया मिल गया था, वह मुझसे बोला कहां जा रहे हैं मैंने कहा कि चाचा चाचा ने गोश्त मंगाया है लेने जा रहा हूं। उसने मुझसे जबरदस्ती रुमाल और पैसे ले लिए और बोला कि तू मेरा गांव उतार दे मैं गोश्त लेकर आ रहा हूं।  मैंने दुकान का रास्ता बता दिया था वजीर की आंखों के सामने अंधेरा छा गया और वापस घर आकर बैठ गया उसकी बेगम ने उसकी हालत देखी तो  ‘हाय अल्लाह’ क्या हो गया इन्हें।  वजीर बड़बड़ा रहा था जो कुआं खोदता है वही गिरता है मैंने दूसरे के लिए कुआं खुदा था और मैं खुद अपने होते हुए कुएं में गिर गया हूं।

 

यह भी जरूर पढ़ें – Top 15  quotes by Swami Vivekanand in hindi

 

 

दोस्तों हम पूरी मेहनत करते हैं आप तक अच्छा कंटेंट लाने की | आप हमे बस सपोर्ट करते रहे और हो सके तो हमारे फेसबुक पेज को like करें ताकि आपको और ज्ञानवर्धक चीज़ें मिल सकें |

अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसको ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाएं  |

व्हाट्सप्प और फेसबुक के माध्यम से शेयर करें |

और हमारा एंड्राइड एप्प भी डाउनलोड जरूर करें

कृपया अपने सुझावों को लिखिए हम आपके मार्गदर्शन के अभिलाषी है 

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *