व्याकरण

टेलीविजन की उपयोगिता पर प्रकाश डालिए | Importance of television in hindi

टेलीविजन जनसंचार का माध्यम के रूप में | इसकी उपयोगिता पर प्रकाश डालिए | Importance of television in hindi 

 

टेलीविजन की उपयोगिता

 

नोट – यह लेख स्नेहा , कक्षा 12 , दिल्ली से  “हिंदी विभाग” के लिए लिखा है। यह लेख केवल एक व्यक्ति के शब्दों में लिखा गया है अतः परीक्षा में अपने शब्दों में लिखे।आप भी अपने लेख हिंदी में लिखकर हमे hindivibhagnotes@gmail.com  पर भेज सकते हैं |

 

प्रश्न – टेलीविजन जनसंचार का कैसा माध्यम है ? इसकी उपयोगिता पर प्रकाश डालिए। 

 

टेलीविजन जनसंचार का सरल व सस्ता माध्यम है। टेलिविजन संचार के माध्यम में क्रांति साबित हुआ है। आज वर्तमान में टेलीविजन सबसे लोकप्रिय व ताकतवर माध्यम माना जाता है।  जिसके कारण एक व्यक्ति कहीं दूर बैठे देश-विदेश में घटने वाली घटना को आंखों देखा , देख सकता है। किसी भी खेल का प्रसारण वह अपने टेलीविजन पर तत्काल व सजीव रूप ( live ) में देख सकता है। इसकी उपयोगिता वर्तमान समय में निम्न प्रकार की है –

किसी घटना की तुरंत जानकारी – टेलिविजन के माध्यम से एक दर्शक कहीं भी घटने वाली घटना को तुरंत व सजीव रूप में देख सकता है। टेलीविजन ने आज सामान्य से सामान्य लोगों तक अपनी पहुंच बना ली है।

विश्वसनीयता –   टेलीविजन के आगमन से दर्शक के बीच विश्वसनीयता का भाव उत्पन्न हुआ है। पत्र – पत्रिका आदि के माध्यम से पाठक व दर्शक के पास जो घटना पहुंचती है। वह किसी दूसरे व्यक्ति के माध्यम से आती है। किंतु टेलिविजन साक्षात रूप में उस घटना का विवरण दिखाता है , जिसके कारण दर्शकों में विश्वसनीयता का भाव जागृत होता है , जो जनसंचार का सबसे सफलतम उदाहरण हो सकता है।

टेलीविजन का शिक्षा के क्षेत्र में प्रयोग –  वर्तमान समय में सरकारी व अर्ध सरकारी अथवा पूर्ण रूप से निजी रूप में टेलीविजन पर कई ऐसे चैनल प्रचलित हैं , जो शिक्षा व ज्ञान – विज्ञान की जानकारियां संप्रेषित करती है। एक व्यक्ति अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए , व एक छात्र उस चैनल से जुड़कर अपने विषय से जुड़ी जानकारियां प्राप्त कर सकता है।

 

यह भी पढ़ें –

अप्रैल फूल क्या है | क्यों मानते है। what is april fool | 1 अप्रैल का इतिहास

शरद पूर्णिमा पर्व का महत्व। शरद पूर्णिमा। sharad poornima | kojaagri poornima

दशहरा निबंध। विजयादशमी त्यौहार भारत 2018 । रावण वध। dussehra nibandh | vijyadashmi |

नदी तथा जल संरक्षण | nadi ka sanrakshan | bhaarat ki nadiya | River protection

पर्यावरण की रक्षा। ग्लोबल वार्मिंग। ताप वृद्धि का कारण।Global warming

दिवाली पर्व से जुडी सम्पूर्ण जानकारी अर्थात निबंध | Diwali essay in hindi

 

 

कृपया अपने सुझावों को लिखिए | हम आपके मार्गदर्शन के अभिलाषी है 

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

Google+

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *