व्याकरण

संपादक को पत्र – जलभराव से उत्पन्न कठिनाइयों के लिए | patra lekhan

0Shares

हिंदी विभाग के सभी पाठकों को नमस्कार | आज हम पोस्ट करने जा रहे हैं जो पत्र लेखन से जुड़ा हुआ है | संपादक को पत्र कैसे लिखें आज इस पोस्ट में आपको उसका उदाहरण मिलेगा | पढ़ कर नीचे कमेंट जरूर करेंगे | इस लेख में दो उदाहरण दिए गए हैं |

 

संपादक को पत्र 

 

नोट – यह पत्र सुनीता , कक्षा 11 , दिल्ली से  “हिंदी विभाग” के लिए लिखा है। यह पत्र केवल एक व्यक्ति के शब्दों में लिखा गया है अतः परीक्षा में अपने शब्दों में लिखे।यह ( संपादक को पत्र ) को सांकेतिक समझे।

 

प्रश्न  – आपके क्षेत्र में जलभराव से उत्पन्न कठिनाइयों का वर्णन करते हुए किसी समाचार पत्र के संपादक को पत्र लिखिए

 

सेवा में

संपादक महोदय

हिंदुस्तान टाइम्स

नई दिल्ली – 11001

 

विषय :-  जलभराव से उत्पन्न समस्याओं की ओर ध्यान आकृष्ट करने हेतु पत्र।

 

महोदय

सविनय निवेदन यह है कि , मैं पूर्वी दिल्ली के कृष्णा नगर क्षेत्र में रहती हूं। यहां कई दिनों से नालियों का पानी गलियों में बह रहा है।  थोड़ी सी बरसात से भी गली व आसपास के क्षेत्र में पानी बह रहा है। जिसके कारण तालाब बनने की स्थिति उत्पन्न हो गई है , लोगों का चलना फिरना भी दूभर हो गया है। इस समस्या के लिए स्थानीय पार्षद से संपर्क किया गया किंतु वह केवल खोखला आश्वासन देते हैं। इस समस्या के निदान के लिए लोगों ने जिम्मेदार अधिकारियों के पास भी शिकायत की किंतु वह भी इस समस्या की और गंभीर रूप से ध्यान नहीं दे रहे हैं। इस समस्या के कारण  स्थानीय जनता प्रभावित हो रही है।

जलभराव के कारण डेंगू , मलेरिया जैसे बीमारियों ने पांव पसारना आरंभ कर दिया है। इस बीमारी के प्रभाव में यहां के स्थानीय जनता आ गए हैं। स्थानीय अस्पताल में निरंतर मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है।

अतः आपके माध्यम से मैं यह चाहती  हूं कि आप अपने पत्र में इस समस्या को उजागर करते हुए संबंधित अधिकारियों तक इस समस्या को पहुंचाकर स्थानीय लोगों को सुविधा मुहैया करने में मदद करें ।

 

धन्यवाद

प्रार्थी

सुनीता

पता पूर्वी दिल्ली कृष्णा नगर

दिल्ली 110097

 

दूसरा उदाहरण =>

 

प्रश्न – प्लास्टिक की थैलियों से हो रही हानि के बारे में किसी  समाचार पत्र के संपादक को पत्र लिखकर अपने सुझाव दीजिए। 

 

सेवा में

संपादक महोदय

दैनिक जागरण

नई दिल्ली 11 00 1

विषय : – प्लास्टिक की थैलियों से हो रही हानि की ओर आपके माध्यम से लोगों तक अपनी बात पहुंचाने हेतु पत्र।

महोदय

श्रीमान मैं कक्षा 10 का छात्र हूं , मैं घर से विद्यालय आने के लिए निकलता हूं , रास्ते में एक कूड़ा घर मिलता है। जिसमें लोग गली – मोहल्ले और घरों का कूड़ा डाल देते हैं। वहां बहुतायत मात्रा में गाय – भैंस चारे की तलाश में रहती है। वह चारे के साथ साथ प्लास्टिक की थैलियां भी खा जाती है। जिसके कारण वह भयंकर बीमारी से ग्रसित हो जाती है।

साथ ही बहता हुआ एक नाला है , सारी प्लास्टिक की थैलियां उस नाले में तैरती रहती है। जिसके कारण नाला जाम होता है और बरसात के दिनों में पानी आसपास के घरों में घुस जाता है। इस  प्लास्टिक की गुणवत्ता की नहीं है , जिसके कारण इसका रीसायकल करना भी मुश्किल है। कभी-कभी कूड़े का निस्तारण करने के लिए लोग कूड़े में आग लगा देते हैं। जिसमें यह प्लास्टिक जलकर विभिन्न प्रकार के जहरीले गैसों का उत्सर्जन करती है , जो वातावरण ही नहीं अपितु मनुष्य के लिए भी खतरनाक और जहरीला है।

अतः मैं आपके पत्र के माध्यम से इस समस्या को जन-जन तक और जनता के प्रतिनिधियों तक पहुंचाना चाहता हूं जो इस समस्या को जानबूझकर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

धन्यवाद

प्रार्थी

भीमसेन

बेगमपुर , उत्तर पश्चिमी दिल्ली

 

हिंदी का पेपर कैसे हल करें | How to solve hindi question paper of class 11

कक्षा दसवीं बोर्ड्स प्रश्न पत्र हल सहित | How to solve class 10 boards hindi paper

पत्र लेखन – बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए पुलिस आयुक्त को पत्र।Patra lekhan

सम्पूर्ण संज्ञा अंग भेद उदहारण।लिंग वचन कारक क्रिया | व्याकरण | sangya aur uske bhed

सर्वनाम की संपूर्ण जानकारी | सर्वनाम और उसके सभी भेद की पूरी जानकारी

हिंदी काव्य ,रस ,गद्य और पद्य साहित्य का परिचय।

शब्द शक्ति , हिंदी व्याकरण।Shabd shakti

छन्द विवेचन – गीत ,यति ,तुक ,मात्रा ,दोहा ,सोरठा ,चौपाई ,कुंडलियां ,छप्पय ,सवैया ,आदि

हिंदी व्याकरण , छंद ,बिम्ब ,प्रतीक।

रस। प्रकार ,भेद ,उदहारण आदि।

 

संपादक को पत्र उदाहरण सहित |

 

कृपया अपने सुझावों को लिखिए | हम आपके मार्गदर्शन के अभिलाषी है 

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

Google+

 

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *