BOI net banking बैंक ऑफ़ इंडिया नेट बैंकिंग

Today we will discuss BOI net banking completely through this post.

BOI net banking complete a to z details

Read complete post to understand everything about it.

नेट बैंकिंग क्या है ? what is net banking –

आधुनिक भारत में बैंकिंग का महत्व काफी अधिक है। आदिकाल में लोगों के पास इतना चलायमान धन नहीं हुआ करता था , जिसका संरक्षण करने की अधिक आवश्यकता पड़े।  आधुनिक भारत में या विश्व में बैंकिंग प्रणाली का आगमन एक क्रांतिकारी कदम साबित हुआ है। लोग अपनी चलायमान संपत्ति / पैसों आदि का संरक्षण बैंकिंग के माध्यम से सुलभ तरीके से कर सकते हैं।

आज सरकार ने नियम भी लागू किया हुआ है कि चल संपत्ति अर्थात करेंसी/पैसा अधिक मात्रा में अपने पास कोई भी व्यक्ति नहीं रख सकता है।  इसलिए लोगों को चाहे अनचाहे बैंकिंग प्रणाली का सहारा लेना ही पड़ता है। बैंकिंग प्रणाली के आगमन से लोगों को काफी सुविधाएं हुई है , वह अपनी संपत्ति का तो संरक्षण करते ही हैं इसके बदले बैंक द्वारा उन्हें कई प्रकार की सुविधाएं भी प्रदान करती है –

बैंक उन्हें उनके संपत्ति की गारंटी देता है , और उनके पैसों को देश की प्रगति में लगाया जाता है।

बैंक लोगों द्वारा जमा किए गए पैसों पर कुछ परसेंट का ब्याज भी नियमित प्रदान करता रहता है।

 

बैंकिंग के प्रकार types of net banking –

जिस प्रकार से बैंकिंग का प्रयोग लोगों के जीवन में बढ़ता जा रहा है , इसका प्रयोग अधिक होने के कारण लोगों को सुविधाएं भी चाहिए होती है।  अतः लोगों की सुविधाओं के लिए बैंक अब किताब और रजिस्टर से निकलकर ऑनलाइन की तरफ भी अपना रुख कर रही है। आज बैंकिंग बेहद सुविधाजनक और आसानी से की जा सकती है।

संभवत एक अनपढ़ व्यक्ति और थोड़ा बहुत समझने वाला व्यक्ति भी बैंकिंग सुविधा का आसानी और निर्बाध रूप से प्रयोग कर सकता है। बैंक सुविधा का वर्तमान में कंप्यूटर , मोबाइल आदि से भी प्रयोग किया जा सकता है। एक खाताधारक अपने साधारण फोन से भी अपने बैंक को अपने अनुसार प्रयोग कर सकता है। वह किसी को पैसे भेज सकता है , अथवा किसी से पैसे प्राप्त भी कर सकता है।

अतः बैंक की दो प्रणालियां इस समय कार्य कर रही है – एक शाखा के द्वारा , दूसरा स्वयं घर बैठे ऑनलाइन नेट बैंकिंग के माध्यम से।

 

नेट बैंकिंग क्या है ? what is net banking  –

नेट बैंकिंग का प्रचलन वर्तमान समय में काफी अधिक बढ़ गया है। लोग सभी कार्यों में सुविधा और कम समय में अपना कार्य को पूर्ण करना चाहते हैं , पहले लोगों को किसी भी प्रकार के बैंकिंग कार्य के लिए बैंक और शाखाओं का चक्कर लगाना पड़ता था। अतः थोड़े से कार्य के लिए लोगों को काफी अधिक समय और धन खर्च करना पड़ता था।

किंतु वर्तमान समय में नेट बैंकिंग में घर बैठे लोगों को यह सुविधा प्रदान की है। नेट बैंकिंग के माध्यम से खाताधारक घर बैठे अपने खाते को चला सकता है।  जो कार्य बैंक अधिकारी करते हैं वही कार्य स्वयं खाताधारक घर बैठे अपने कंप्यूटर अथवा मोबाइल से भी कर सकता है। इसके लिए खाताधारक को अधिक समय खर्च करने की आवश्यकता नहीं रह जाती। वह किसी भी समय अपने सुविधा अनुसार नेट बैंकिंग का प्रयोग कर सकता है।

 

BOI में नेट बैंकिंग के लिए कैसे अप्लाई करें ? how to apply boi net banking –

bank of india  नेट बैंकिंग सुविधा के लिए आपको अपनी boi की शाखा में जाकर नेट बैंकिंग के लिए आवेदन करना होगा। 15 से 20 दिन में आपको नेट बैंकिंग की सुविधा मिल जाएगी।

आप ऑनलाइन bankofindia की वेबसाइट से भी अप्लाई कर सकते है।

बैंक आपके आवासीय पते पर आपको नेट बैंकिंग का अकाउंट नंबर अथवा पासवर्ड भेजती है , या फिर शाखा से इसको प्राप्त किया जाता है। इसके उपरांत आप बैंक के ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर अपना अकाउंट नंबर और पासवर्ड के माध्यम से नेट बैंकिंग की सुविधा बेहद ही आसानी पद्धति से उपयोग कर पाएंगे।

वर्तमान समय में यह सुविधा काफी लोकप्रिय और समय तथा धन की बचत करने वाले सुविधा है। यह सुविधा आपको बैंक से जुड़ी सभी कार्य पद्धतियों को घर बैठे मुहैया कराती है।

 

बैंक ऑफ इंडिया स्टार प्वाइंट या रीवार्ड प्वाइंट क्या है ? what is star point & reward point in Boi net banking ?

जिस प्रकार बैंक खाते में खाताधारक की राशि जमा रहती है , उस पर बैंक समय-समय पर खाता धारक को राशि के अनुसार कुछ प्रतिशत ब्याज के रूप में लौट आती है। ठीक इसी प्रकार ऑनलाइन प्रयोग या नेट बैंकिंग के उपयोग से बैंक खाताधारक को स्टार रीवार्ड प्वाइंट देती है , यह एक प्रकार से तोहफा है।

इस पॉइंट के माध्यम से आप खरीदारी कर सकते हैं , यह आपको ऑनलाइन शॉपिंग में कुछ प्रतिशत डिस्काउंट दिलाने में , सहायक साबित होगा।  किंतु इस स्टार पॉइंट को आप केवल बैंक ऑफ इंडिया से खरीदारी में ही प्रयोग कर पाएंगे।
यह एक प्रकार से खाताधारकों के लिए लोभ का कार्य है , बैंक का मानना है लोग रीवार्ड प्वाइंट को प्रयोग करने के लिए उनके प्रोडक्ट को प्रयोग करेंगे इससे उनके विज्ञापन में आसानी होगी।

 

नेट बैंकिंग में सुरक्षा का ध्यान कैसे रखें ? How to secure your BOI net banking –

  • सर्वप्रथम आपको ध्यान देना होगा आपको जो अकाउंट नंबर और पासवर्ड दिया गया है वह किसी दूसरे व्यक्ति को बिना बताए समय-समय पर बदलते रहना होगा। इससे आप होने वाली धोखाधड़ी से निश्चित रूप से बच पाएंगे।
  • अपना आईडी पासवर्ड मजबूत ढंग से तैयार करें , जिसको अन्य लोग समझ ना पाए अपने पासवर्ड में –  [email protected]&%75-> आदि चिन्हों का प्रयोग करें। यह आपको ऑनलाइन होने वाली धोखाधड़ी से बचाने में काफी मददगार साबित होती है।
  • अपने आईडी पासवर्ड का प्रयोग किसी दूसरे व्यक्ति के सामने ना करें।
  • किसी सार्वजनिक जगह अथवा साइबर कैसे से अपने अकाउंट को ऑपरेट करने से बचें।
  • फोन पर होने वाली पूछताछ में ओटीपी , अकाउंट नंबर , पासवर्ड , एटीएम कार्ड डिटेल आदि नहीं मांगा जाता है। किसी भी स्थिति में आप इस प्रकार की जानकारी साझा ना करें।
  • महत्वपूर्ण आपके साथ अगर किसी प्रकार की धोखाधड़ी होती है तो लिखित तौर पर अपने बैंक को सूचित करें और थाने में एफ आई आर (FIR)  करवाएं बैंक को सूचित करने में शीघ्रता दिखाएं 72 घंटे के अंदर की गई शिकायत में धोखाधड़ी हुए रकम को वापस करने की जिम्मेदारी बैंक की होती है आपको बैंक आपके पैसे लौटाने का जिम्मेदारी होगा।

 

BOI नेट बैंकिंग का प्रयोग मोबाइल से करें अथवा नहीं ? Net banking through mobile

निश्चित रूप से वर्तमान समय में मोबाइल लोगों के लिए काफी सुविधाजनक साबित हो रहा है। अधिकतर लोग मोबाइल से बैंकिंग का प्रयोग करते हैं। किंतु आपको ध्यान रखना होगा कि अपने मोबाइल से नेट बैंकिंग का प्रयोग करें , इसके लिए आपके मोबाइल का सिग्नल फुल होना चाहिए। नेट बैंकिंग की सुविधा के दौरान आपका मोबाइल बंद नहीं होना चाहिए अथवा किसी प्रकार के पॉप अप और परमिशन को आप सहमति allow ना करें।
हमारी राय है आप मोबाइल से नेट बैंकिंग का प्रयोग ना करें तो बेहतर होगा , क्योंकि इसको आसान तरीके से हैक किया जा सकता है। आजकल सभी मोबाइल एप्लीकेशन आपके सभी प्रकार के डिटेल लेने की परमिशन आप से ले लेते हैं , और इसमें लगने वाले सभी पार्ट पुर्जे और सॉफ्टवेयर सभी चाइनीस होने के कारण यह खतरा और बढ़ जाता है।

फिर भी एहतियात के तौर पर मोबाइल का इस्तेमाल सावधानी पूर्ण से किया जा सकता है , किंतु इसका परहेज करना ही बेहतर साबित होगा।

 

ऑफलाइन और नेट बैंकिंग में क्या फर्क है ? Difference between offline or online net banking ?

ऑफलाइन से हमारा सीधा आज से बैंक और उसकी शाखाओं से है , जिसमें खाताधारक स्वयं बैंक जाकर अपनी मौजूदगी में अपने कार्य करवाता है।  यह काफी हद तक मैनुअली वर्क होता है , जिसमें खाताधारक का वहां मौजूद होना आवश्यक होता है।

खाता धारक की पहचान होने के बाद ही उसके खाते को ऑपरेट किया जाता है , नेट बैंकिंग काफी सुविधाजनक प्रक्रिया है , किंतु इसमें धोखाधड़ी का हमेशा डर बना रहता है। यह पूरी प्रक्रिया व्यक्ति अपनी सुविधा अनुसार किसी भी समय और कहीं भी कर सकता है। वह घर बैठे या बाहर साइबर कैफे से किसी भी समय दिन – रात   में जब चाहे अपने खाते को प्रयोग कर सकता है। इसके लिए उसे शाखा जाने की अथवा बैंक जाने की तनिक भी आवश्यकता नहीं होती है।

किंतु इसमें खतरा भी बरकरार रहता है , थोड़ी सी  असावधानी से खाताधारक के साथ धोखाधड़ी हो सकती है इसके लिए प्रयोग करते समय ऊपर बताए गए बिंदुओं का प्रयोग कर धोखाधड़ी को कम किया जा सकता है अथवा उससे बचा जा सकता है।

Read other posts

मापक यंत्र। 70 प्रकार के मापक यंत्र अथवा मीटर।सामान्य ज्ञान। G.K

सामान्य ज्ञान।पद्म भूषण।भारत के प्रधान मंत्री। अकबर के नवरत्न।दिवस। प्रमुख झील। सामान्य जानकारी

सामान्य ज्ञान स्वतंत्र भारत की राजनीति का। general knowledge indian politics

नेट। जेआरएफ। UGC NET JRF | UGC NET की तैयारी कैसे करैं

सीटेट की तयारी कैसे करें। CTET / STET | PRT / TGT ki taiyari kaise kare

Chinook helicopter full details in hindi

Follow us here

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

1 thought on “BOI net banking बैंक ऑफ़ इंडिया नेट बैंकिंग”

Leave a Comment