महात्मा गाँधी की संपूर्ण जीवनी Mahatma gandhi biography hindi

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं महात्मा गाँधी जी के बारे में | महात्मा गाँधी की पूरी जीवनी हमने लिखी है जिसमे आपको महत्त्वपूर्ण नोट्स मिल जाएंगे | यह लेख upsc या अन्य सरकारी जॉब के लिए प्रयास कर रहे बच्चो के लिए भी उपयोगी साबित होगी | महात्मा गाँधी का जीवन संघर्ष और …

Read moreमहात्मा गाँधी की संपूर्ण जीवनी Mahatma gandhi biography hindi

महात्मा ज्योतिबा फुले | jyotiba foole | biopic jyotiba foole |

महात्मा ज्योतिबा फुले   महात्मा ज्योतिबा फुले – Biography of Jyotiba foole  समाज सुधारों की दृष्टि से 19वीं शताब्दी का भारतीय इतिहास में उल्लेखनीय स्थान है। विभिन्न समाज सुधारकों के प्रयासों के फलस्वरुप भारतीय समाज में अज्ञानता , रूढ़िवाद और संकुचित विचारों के स्थान पर उदार विचारधारा और मानवीय दृष्टिकोण की हवा बहनी शुरू हो गई थी। …

Read moreमहात्मा ज्योतिबा फुले | jyotiba foole | biopic jyotiba foole |

आरएसएस। हेडगेवार जी का संघर्ष। करांतिकारी विचारधारा। keshawrao | hedgewaar

keshawrao | hedgewaar राष्ट्र ही उनका आराध्य देव था हेडगेवार जी का संघर्ष – राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जन्मदाता केशवराव बलिराम हेडगेवार जब मैट्रिक के छात्र थे , तब उन्होंने रामपलायली (जिला नागपुर) के दशहरा मेले में अपने साथियों के साथ रावण – दहन से पूर्व वंदे मातरम गीत गाया था , और उसके बाद उपस्थित …

Read moreआरएसएस। हेडगेवार जी का संघर्ष। करांतिकारी विचारधारा। keshawrao | hedgewaar

बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी की जीवनी । B R AMBEDKAR

बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर जी की जीवनी । B R AMBEDKAR | WRITER OF INDIAN CONSTITUTION बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर   भीमराव अम्बेडकर जी की पारिवारिक पृष्ठभूमि : परिवार में तीन सन्यासी-   बाबा साहब का परिवार अत्यंत धार्मिक प्रवृत्ति का था। इसमें तीन सन्यासी हो गए दादाजी श्री मालोजी  राव ने रामानंद संप्रदाय से …

Read moreबाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी की जीवनी । B R AMBEDKAR

महर्षि वाल्मीकि | जिन्होंने रामायण की रचना करके मानव समाज को जीवन का मूल मन्त्र दिया

महर्षि वाल्मीकि – जिन्होंने रामायण की रचना करके मानव समाज को जीवन का मूल मन्त्र दिया   महर्षि वाल्मीकि – संपूर्ण मानव जाति के हित में रामायण तथा योगावशिष्ठ यह दो महान ग्रंथ रचकर महर्षि बाल्मीकि अनंत काल तक अमरता पा गए हैं। 24000 श्लोकों में उनके द्वारा निबंध श्री राम का चरित्र ऐसा सर्वव्यापी …

Read moreमहर्षि वाल्मीकि | जिन्होंने रामायण की रचना करके मानव समाज को जीवन का मूल मन्त्र दिया

डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जीवन परिचय।शिक्षक दिवस | Teachers day special

डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जीवन परिचय डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जन्म 5 सितंबर 1888 मृत्यु 17 अप्रैल 1975 पद भारत के दूसरे राष्ट्रपति 1962 से 1967   डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति (1962 से 1967) थे। मद्रास के प्रेसिडेंसी कॉलेज से अध्यापन  का कार्य शुरू करने वाले राधाकृष्णन आगे चलकर मैसूर विश्वविद्यालय …

Read moreडॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जीवन परिचय।शिक्षक दिवस | Teachers day special

बाजीराव पेशवा प्रथम। हिन्दू सम्राट। बाजीराव की जीवनी।Bajirao peshwa 1 notes in hindi

Bajirao peshwa 1 notes in hindi पेशवा बाजीराव  जिन्हें बाजीराव प्रथम (बाजीराव जी ) भी कहा जाता है मराठा साम्राज्य के एक महान पेशवा थे। पेशवा का अर्थ होता है प्रधानमंत्री। वे मराठा छत्रपति राजा शाहू के 4थे प्रधानमंत्री थे। बाजीराव  ने अपना प्रधानमंत्री का पद सन 1720 से अपनी मृत्यु तक संभाला। उनको बाजीराव बल्लाल और थोरल …

Read moreबाजीराव पेशवा प्रथम। हिन्दू सम्राट। बाजीराव की जीवनी।Bajirao peshwa 1 notes in hindi

मदन लाल ढींगरा की जीवनी। Madan lal dhingra biography।

 Madan lal dhingra biography।   शहीद मदन लाल ढींगरा का जन्म 1887 ईस्वी में पंजाब के अमृतसर में हुआ था | उनके पिता राय साहब डा.दित्तामल ढींगरा बड़े राजभक्त थे | लाहौर में शिक्षा प्राप्त करने के बाद मदनलाल को परिवार के व्यवसाय में और एक दो दफ्तरों में नौकरी पर लगाया , पर इन …

Read moreमदन लाल ढींगरा की जीवनी। Madan lal dhingra biography।

केशव राव बलिराम हेडगेवार पर निबंध। आरएसएस के संस्थापक।Keshav rao baliram hedgewar essay

                    हेडगेवार पर निबंध  1. प्रस्तावना: आजादी के संघर्ष में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान देने वालों में डॉ० केशवराव बलिराम हेडगेवार का नाम विशेष रूप से उल्लेखनीय है । हिन्दू जागरण और हिन्दू समाज के संगठनकर्ता के रूप में डॉ० हेडगेवार ने ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ’ की स्थापना …

Read moreकेशव राव बलिराम हेडगेवार पर निबंध। आरएसएस के संस्थापक।Keshav rao baliram hedgewar essay

You cannot copy content of this page