Kabir ke dohe
हिंदी सामग्री

Kabir ke dohe aur vyakhya | कबीर के दोहे व्याख्या सहित

कबीर के दोहे व पद व्याख्या सहित | दोस्तों आज आपको हम कबीर के दोहे और उनकी व्याख्या यहाँ देने जा रहे हैं | यह नोट्स हर जगह उपयोगी होंगे | और सभी स्टूडेंट्स के काम आएंगे | Kabir ke dohe with vyakhya    कबीर के दोहे    दोस्तों हमने यहाँ लगभग सारे कबीर के दोहे ( […]

हिंदी सामग्री

नए गीत गीत फरोश भवानी प्रसाद मिश्र। bhwani prsad mishra pryogwad ke kavi

नये गीत (गीत-फरोश) भवानीप्रसाद मिश्र (Geet faros Bhwani prshad mishra)   “भवानी प्रसाद मिश्र” प्रगतिवाद के कवि हैं। प्रगतिवाद की शुरुआत सच्चितानंद हीरानंद वात्स्यान ( अज्ञेय ) से  मानी जाती है। ‘नये गीत’  कविता में पूर्व तथा वर्तमान की तुलना की गई है. यह गीत द्वितीय विश्वयुद्ध के समय की है। द्वितीय विश्वयुद्ध के समय डर […]

हिंदी सामग्री

प्रमुख नाटककार भारतेंदु हरिश्चंद्र जयशंकर प्रसाद मोहन राकेश पूरी जानकारी

प्रमुख नाटककार प्रमुख नाटककार भारतेंदु हरिश्चंद्र भारतेंदु हरिश्चंद्र हिंदी के प्रथम मौलिक नाटककार हैं । उन्होंने ना केवल नाटक को युगीन समस्याओं से जोड़ा बल्कि नाटक और रंगमंच के परस्पर संबंध को समझाते हुए रंगकर्म भी किया। भारतेंदु ने हिंदी नाट्य विकास के लिए योजनाबद्ध ढंग से एक संपूर्ण आंदोलन की तरह काम किया है। […]

हिंदी सामग्री

आधुनिक भारत और शिक्षा नीति।modern education in india | education policy

आधुनिक भारत और शिक्षा नीति   भूमिका भारत में शिक्षा का आरंभ आदिकाल से रहा है। किंतु वर्तमान में लोगों को भ्रम है कि शिक्षा का सूत्रपात अंग्रेजी राज के आने के कारण हुआ। कुछ हद तक आधुनिक शिक्षा के रूप में यह उक्ति सत्य है। किंतु भारत में शिक्षा आदिकाल से ही चली आ […]

हिंदी सामग्री

तेरी है ज़मीन तेरा आसमान प्रार्थना | teri hai jami tera aasman prayer lyrics

तेरी है ज़मीन तेरा आसमान प्रार्थना | teri hai jami tera aasman prayer lyrics     तेरी है ज़मीन तेरा आसमान तू बड़ा मेहरबान तू बक्शीस कर तेरी है ज़मीन तेरा आसमान तू बड़ा मेहरबान तू बक्शीस कर सभी का है तू, सभी तेरे ख़ुदा मेरे तू बक्शीस कर तेरी है ज़मीन तेरा आसमान तू […]

हिंदी सामग्री

ऐ मालिक तेरे बन्दे हम प्रार्थना | Ae maalik tere vande hum prarthana lyrics

ऐ मालिक तेरे बन्दे हम प्रार्थना | Ae maalik tere vande hum prarthana lyrics   ऐ मालिक तेरे बन्दे हम   ऐ मालिक तेरे बन्दे हम ऐसे हों हमारे करम नेकी पर चलें और बदी से टलें ताकि हंसते हुए निकले दम   ये अँधेरा घना छा रहा , तेरा इंसान घबरा रहा हो रहा […]

हिंदी सामग्री

राम काव्य परंपरा।राम काव्य की प्रवृत्तियां।भक्ति काल की पूर्व पीठिका।रीतिकाल रीतिकाव्य

राम काव्य परंपरा Ram kavya Tulsidas   वैसे ‘ राम ‘ शब्द का प्रयोग वेदों में कुछ स्थलों पर अवश्य हुआ है , परंतु यह राम दशरथ पुत्र राम है। दक्षिण भारत के रामानुजाचार्य ने श्री वैष्णव संप्रदाय की स्थापना की थी। जिसमें नारायण के रूप में विष्णु की उपासना का विधान था। आचार्य रामचंद्र […]

हिंदी सामग्री

आदिकाल की मुख्य प्रवृतियां। आदिकाल का साहित्य स्वरूप। हिंदी का आरंभिक स्वरूप

आदिकाल की मुख्य प्रवृतियां     आदिकाल का समय 1050 से 1375 तक का माना जाता है। आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने वीरगाथा काल कहा। आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी ने आदिकाल से नामकरण किया। इस काल में अधिकतर रासो ग्रंथ लिखे गए जैसे –  विजयपाल रासो  , हम्मीर रासो  , खुमान रासो  , बीसलदेव रासो  , […]

हिंदी सामग्री

आदिकाल की परिस्थितियां | राजनीतिक धार्मिक सामाजिक सांस्कृतिक साहित्यिक परिस्थितियां। aadikaal

आदिकाल की परिस्थितियां   आदिकाल की परिस्थितियां – साहित्य मानव समाज की भावात्मक स्थिति एवं गतिशील चेतना की सार्थक अभिव्यक्ति है। साहित्य मानव के आदर्श समाज का निर्माण करने में अग्रणी भूमिका निभाती है। साहित्य ही मानव के अगली पीढ़ी तक उनके आदर्शों को पहुंचती है। राजनीतिक धार्मिक सामाजिक सांस्कृतिक साहित्यिक परिस्थितियां – आदिकाल की […]