Meera bai ke pad aur dohe – मीरा बाई के पद और दोहे

Meera bai ke jeevani, pad aur dohe

In this article you will get to read Meera bai ke pad aur dohe in hindi with meaning. मीराबाई भक्ति कालीन सगुण मार्गी कृष्ण शाखा की अग्रणी कवित्री तथा उपासक थी। मीराबाई कृष्ण को अपना पति मानती थी और उनकी उपासना किया करती थी। कृष्ण को पति के रूप में पाने की लालसा में उन्होंने …

Read more

संपूर्ण कबीर के दोहे अर्थ सहित हिंदी में। Kabir ke dohe in hindi

संत कबीर का जीवन कठिनाइयों से भरा हुआ था परंतु फिर भी उन्होंने समाज में फैली कुरीतियों को मिटाने के लिए जीवन के अंतिम क्षणों तक प्रयत्न किया। संत कबीर समाज में फैले आडंबर और अंधविश्वास को मिटाने के लिए दोहे और पद की रचना करते थे जिनका सीधा उद्देश्य कुरीतियों पर वार करना था। …

Read more