चाणक्य नीति

चाणक्य नीति – जीवन में सदा गुप्त रखें ये ५ बातें | Chanakya neeti – always keep these 5 secrets

           चाणक्य नीति ( chanakya neeti ) – जीवन में सदा गुप्त

रखें ये ५ बातें

 

चाणक्य एक बहुत ही ज्ञानवान व्यक्ति थे और उन्होंने अपने युग में एक किताब की रचना की थी जिसमे उन्होंने अपनी साड़ी नीतियां लिखी थी जिसे लोग आज भी पढ़ते हैं और अपनी जिंदगी सुगम बनाते हैं | उनकी नीतियां चाणक्य नीति नाम से भी जानी जाती है | 

आज के युग  में बहुत सारे लोगों को धन पाने के लिए बहुत ज्यादा श्रम करना पड़ता है मगर फिर भी बहुत ही कम लोग अधिक श्रम के बाद भी पर्याप्त फल प्राप्त कर पाते हैं। व्यक्ति को कुछ कार्यों में तो सफलता मिलती है, लेकिन कुछ कार्यों में असफलता का मुंह भी देखना पड़ता है। यदि आप सफलता पाना चाहते हैं तो यहां एक चाणक्य नीति बताई जा रही है।इस चाणक्य नीति का अगर आप पालन करते हैं तो सफलता आपको जरूर हासिल होगी | 

आइए दोस्तों जानते हैं कौन सी हैं वो पांच बातें जिन्हे आपको गुप्त रखना चाहिए | 

1 . धन हानि

आज के समय में लोगों की इज़्ज़त उसके संचित किए हुए धन के हिसाब से होती है। कहने का अर्थ है की जिसके पास जितना धन वो समाज में उतना ही सम्मान पाटा है | अधिकांश परिस्थितियों में धन के आधार पर ही रिश्ते निभाए जाते हैं और मित्रता की जाती है।चाणक्य नीति  अनुसार यदि हमें कभी भी धन हानि का सामना करना पड़े तो इस बात को बिलकुल गुप्त रखनी चाहिए। धन हानि की बात दूसरों को बता दी जाएगी तो कई लोग हमसे दूरियां बढ़ा लेंगे और हो सकता हैं की समाज में बानी हुई इज़्ज़त भी काम होने लगे | धन हानि से उबरने के लिए धन की आवश्यकता होती है, इस बात के जाहिर होने पर कोई धन की मदद भी नहीं करेगा। साथ ही, यदि हमारे पास बहुत सारा धन है तो इस बात को भी गुप्त रखना चाहिए और हो सके तो अपने करीबियों से भी नहीं बताना चाहिए | 

2. मंत्र

चाणक्य कहते हैं की गुरु द्वारा दिए गए मंत्र को कभी भी किसी के साथ नहीं बाटना चाहिए | चाणक्य नीति के अनुसार अगर गुरु द्वारा दिए गए मंत्र का पूरा लाभ उठाना चाहते हो तो उनके दिए गए मंत्र को किसी को न बताएं और उसे गुप्त रूप से पालन करें | यही उचित तरीका है जीवन में सफलता पाने का | अगर आपने उन मंत्रो को दुसरो को बताया तो हो सकता है की वो व्यक्ति आपको भटका दे और खुद उस मंत्र का पालन करके आपको पीछे कर दे | 

android app hindi vibhag

3. दान

हमारे ग्रंथों में और चाणक्य नीति ( chanakya neeti ) पुस्तक में गुप्त दान का विशेष महत्व बताया गया है। ऐसा माना जाता है कि जो लोग गुप्त रूप से दान करते हैं, उन्हें अक्षय पुण्य के साथ साथ देवी-देवताओं की कृपा भी प्राप्त होती हैं। दूसरों को बता-बताकर दान करने पर पुण्य प्राप्त नहीं हो पाता है और उस दान का महत्व भी काम हो जाता है | चाणक्य नीति के अनुसार दान अपनी ख़ुशी के लिए करना चाहिए और अपनी ख़ुशी से करना चाहिए ना की किसी को दिखाने के लिए | 

 

4. पद-प्रतिष्ठा

चाणक्य नीति ( chanakya neeti ) के अनुसार यदि हम किसी बड़े पद पर हैं और समाज में हमें बहुत मान-सम्मान प्राप्त होता है तो इस बात को भी गुप्त रखना चाहिए। मतलब की  किसी अन्य व्यक्ति के सामने इस बात को जाहिर नहीं करना चाहिए नहीं तो इससे अहंकार का भाव पैदा होता है। अहंकार हमेशा ही पतन का कारण बनता है और इससे हमारी प्रतिष्ठा भी कम हो सकती है। इसलिए कभी भी अपने पद का अहंकार न करें | 

 

5. घर-परिवार के झगड़े

बहुत से परिवारों में झगडे होते हैं और ये होना भी आम बात है पर इस बात को कभी बी किसी बहार वाले को नहीं बताना चाहिए । चाणक्य नीति के अनुसार अगर आप बहार वाले को ये बातें बताते हैं तो ऐसा करने पर समाज में परिवार की प्रतिष्ठा कम होती है और साथ ही साथ परिवार का अहित चाहने वाले लोग हमारे आपसी झगड़े से लाभ उठा सकते हैं।

 

यह भी जरूर पढ़ें – Top 15  quotes by Swami Vivekanand in hindi

 

 

दोस्तों हम पूरी मेहनत करते हैं आप तक अच्छा कंटेंट लाने की | आप हमे बस सपोर्ट करते रहे और हो सके तो हमारे फेसबुक पेज को like करें ताकि आपको और ज्ञानवर्धक चीज़ें मिल सकें |

अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसको ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाएं  |

व्हाट्सप्प और फेसबुक के माध्यम से शेयर करें |

और हमारा एंड्राइड एप्प भी डाउनलोड जरूर करें

कृपया अपने सुझावों को लिखिए हम आपके मार्गदर्शन के अभिलाषी है 

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *