Dharmik yatra full details in hindi

This post will cover everything related to dharmik yatra and its types.

 

Dharmik yatra full details – धार्मिक यात्रा

 

भारतीयों में यात्रा करने की प्रवृत्ति अन्य देशों से कहीं अधिक है , और जब धार्मिक यात्रा की बात हो तो उसमें भारतीयों का कोई सानी नहीं है।  भारत देश विविध धर्मों का देश है , यहां देश के सभी धर्म को माना जाता है। भारत एक मात्र ऐसा देश हे जहाँ सभी धर्मों के मानने वाले उनका अनुकरण करने वाले लोग रहते हैं , यह भारत के गौरव और गरिमा की बात है।
भारतीयों में धार्मिक यात्रा का खासा प्रचलन है। मुसलमान धर्म के लोग जहां हज करने के लिए लाखों की संख्या में जाते हैं , वही ईसाई धर्म के लोग यरूशलेम तथा अन्य प्रसिद्ध गिरिजाघरों की यात्रा करते हैं। वही हिंदू धर्म को मानने वाले लोगों में भी धार्मिक यात्रा को लेकर विशेष आग्रह रहता है चाहे कैसी भी दुर्गम घाटी हो कैसा भी मौसम हो वह धार्मिक यात्रा करने से पीछे नहीं हटते।

मानसरोवर यात्रा – Mansarover dharmik yatra

कैलाश मानसरोवर जो चाइना ( चीन )के अधिकृत क्षेत्र में है , यह हिंदू धर्म की आस्था का एक प्रमुख केंद्र है। यहां शिव शंकर के स्वरूप की पूजा अर्चना की जाती है। भारतीय हिंदू समाज कैलाश मानसरोवर के प्रति गहरी आस्था रखती है , इस कारण मानसरोवर की यात्रा के लिए लाखों श्रद्धालु प्रतीक्षा में प्रतिवर्ष रहते हैं। इस वर्ष 2019 में कैलाश मानसरोवर की यात्रा शामिल होने वाले श्रद्धालु 9 मई तक अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं , अन्यथा वह इस साल की धार्मिक यात्रा से वंचित रह जाएंगे।

चीन ने इस बार लिपुलेख दर्रा से यात्रा को संचालन करने की अनुमति दी है जिसमें 1080 तीर्थ यात्रियों को जाने की अनुमति प्रदान की है .

 

 

अमरनाथ यात्रा

कैलाश मानसरोवर की भांति अमरनाथ की यात्रा भी बेहद लोकप्रिय और खास है। जहां कैलाश मानसरोवर यात्रा में कुछ सीमित मात्रा में श्रद्धालु शामिल हो पाते हैं , वहीं कैलाश मानसरोवर की यात्रा जो भगवान शिव का एक पावन जगह है। वहां हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले लोगों का जन सैलाब देखने को मिलता है।
अमरनाथ जम्मू – कश्मीर में होने वाली धार्मिक आयोजन में सबसे बड़ा और प्रसिद्ध त्योहार है। 2019 में यह यात्रा 1 जुलाई से शुरू होगी इसके लिए श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड के अनुसार यह धार्मिक आयोजन 46 दिन अर्थात लगभग डेढ़ महीने चलेगी जिस का समापन 15 अगस्त को होगा। इस आयोजन में भाग लेने के लिए भक्त अपनी सुविधा के अनुसार वहां पहुंचते हैं।

इस धार्मिक आयोजन में लाखों की संख्या में दूर-दूर से देश ही नहीं अपितु विदेश से भी आस्था रखने वाले भक्तों की भीड़ जुटती है।  इस पवित्र स्थल के विषय में अनेक प्रचलित कथाएं हैं जो आदि अनंत काल से चली आ रही है। इस प्रकार यह हिंदू धर्म के तीर्थ स्थलों में पवित्र स्थल है।

 

चार धाम यात्रा

चार धाम की यात्रा हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखता है , यहां तक माना जाता है जिसको मोक्ष की प्राप्ति करनी है अथवा संसार की मोह माया से छुटकारा पाना है वह चार धाम की यात्रा पर निकल जाता है। चार धाम की यात्रा बेहद दुर्लभ और दुर्गम है। इस यात्रा को करने वाला व्यक्ति स्वच्छ और पवित्र मन का हो जाता है , वह शुद्ध बुद्धि से समाज कल्याण के लिए सोच पाता है। काफी हद तक वह मोह – माया आदि के बंधन को समझने लगता है और उससे मुक्ति पाने का मार्ग ढूंढ पाने में सक्षम होता है।

वर्ष 2019 में चार धाम की यात्रा के लिए पर्यटन विभाग ने विशेष आयोजन कर 22 अप्रैल से आवेदन पत्र स्वीकार करने के लिए कहा है। इसमें पर्यटन विभाग ने भक्तों की सुविधा के अनुसार उनके समय प्रबंधन और सुविधा का खास इंतजाम किया है –
केदारनाथ धाम की यात्रा 9 मई  ,  बद्रीनाथ धाम की यात्रा 10 मई  , और गंगोत्री तथा यमुनोत्री की यात्रा 7 मई को करने का विशेष आयोजन किया गया है।

किंतु जैसा कि यह सभी धाम भारत में है इसलिए इस यात्रा के प्रति अपनी आस्था रखने वाले श्रद्धालु उससे पूर्व ही वहां पहुंचना आरंभ कर चुके हैं।
इस यात्रा में श्रद्धालुओं को पैदल यात्रा भी करनी पड़ती है पैदल यात्रा करने वाले श्रद्धालु  –  दूबाटा , बड़कोट, हिना उत्तरकाशी, फाटा केदारनाथ मार्ग , पांडुकेश्वर बद्रीनाथ मार्ग , गोविंदघाट हेमकुंड साहिब, रेलवे स्टेशन हरिद्वार , राही मोटल हरिद्वार , गुरुद्वारा ऋषिकेश और बस स्टैंड ऋषिकेश में चार धाम यात्रा के लिए फोटो मेट्रिक केंद्र खोले गए हैं वहां से श्रद्धालु की भीड़ निरंतर आगे की ओर बढ़ती जा रही है।

 

विशेष – भारत में होने वाले सभी यात्रा में श्रद्धालु स्वयं भी अपनी यात्रा कर सकते है और अपने सुविधा के अनुसार आर्थिक प्रबंधन कर सकते है।

Read more posts

kbar birbal stories in hindi with moral

Motivational story in hindi for students

3 Best Story In Hindi For kids With Moral Values

Hindi panchatantra stories best collection at one place

5 Famous Kahaniya In Hindi With Morals

3 majedar bhoot ki kahani hindi mai

Hindi funny story for everyone haasya kahani

 

Follow us here

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

2 thoughts on “Dharmik yatra full details in hindi”

Leave a Comment

You cannot copy content of this page