Hindi poem for class 1, 2 and 3 students – Easy language

Today we are writing easy to understand short Hindi poem for class 1 students. There is a total of 7 Hindi poem for kids. If we get a good response then we will write more.

यह कविताए आसान भाषा में बच्चों के लिए लिखी गयी हैं। यह कविताएँ कक्षा एक दो और तीन के विद्यार्थियों के लिए भी उपयोगी हैं।

 

Easy to understand Hindi poem for class 1, 2 and 3 students

 

First poem

मम्मी मेरी प्यारी
दुनिया से है न्यारी
पहनती है वह साड़ी
प्यार करती ढेर सारी।

पापा भी है प्यारे
दुनिया से न्यारे
मिठाइयां लाते सारे
प्यारे हो जो हमारे । ।

 

Second poem

मेरी बिल्ली रानी है
लेकिन बड़ी सयानी है।
दिन भर घर में घूमती है
चूहों को भी मार भगाती है।
मम्मी जब दूध रखती है
झटपट आकर पीती है। ।

 

Third poem

नानी मेरी नानी
सारे जग से सयानी।
रोज सुनाती कहानी
कभी राजा कभी रानी
उनको याद जुबानी।
जब भी कोई तंग करता
डांट लगाती पुरानी। ।

 

Fourth Poem

आम है फलों का राजा
उसको खाते सब कोई ताजा
पापा जब भी बाजार जाते
ढेर सारे आम लाते
आम फल का राजा है
मैं पापा का राजा हूं
छोटा सा हूं , मोटा सा हूं
गोदी में सबके खेलता हूं।

 

Fifth Hindi poem for class 1, 2 and 3 students

चंदा मामा आए हैं
रात भी हो गई है
तारों का आसमान है
टिमटिम टिमटिम तारे हैं
आंगन में डली चारपाई है
कहानियों की शामत आई है।

 

Sixth poem

तितली होती रंग – बिरंगी
फूलों पर घूमती डाली – डाली।
कोई लाल , कोई हरी ,होती कोई काली।
इतना कोमल इतना सुंदर
सब बच्चों लगती प्यारी।
हाथ किसी के नहीं आती
घूमती दुनिया सारी। ।

 

Seventh Hindi poem for class 1, 2 and 3 students

सावन जब आता है
खूब मजा आता है।
चारों ओर हरियाली होती
पेड़ों पर खुशियाली होती।
दादुर , मोर , पपीहा गाते
मेंढक उछलकर नाच करते।
कोयल ऊंचे तान सुनाती
घूम – घूम कर सगुन बजाती। ।

 

More Short Hindi poem for kids

Below you will find more short Hindi poems.

Eighth Hindi poem for class 1, 2 and 3 students

पेड़ों से जब हरियाली आती
ऑक्सीजन का भंडार होता।
कोई तब बीमार ना होता
जोर जोर से बूढ़े न खाँसते।
बच्चों को भी आनंद आता।

तो फिर कैसी नाराजगी है ,
जीवन में जब ताजगी है।
पेड़ लगाओ खुशहाल बनाओ ,
प्लास्टिक छोड़कर हरियाली अपनाओ।

 

Ninth poem

ओ री प्यारी चिड़िया
तू कल क्यों नहीं आई।
पापा ने खाना रखा था
कहां चली गई थी ताई।
बच्चे भी तेरे नहीं आए
पापा तुझे रहे  बुलाए। ।

Tenth Hindi poem for class 1, 2 and 3 students

मेरे घर आई एक मोटी चिड़िया
सोने चांदी से भरी थी चिड़िया
सोने की मोटी चेन गले में
हाथों में मोटी अंगूठी थी
पैरों में छोटे पायल थे
शरीर पर रेशमी पोशाक थी
एक दुशाला साथ था
लगता राज पोशाक था।

 

Eleventh Poem

रोज आकर लड़ाई करती
मम्मी से लड़कर खाना मांगती
थोड़ा भी देर हो जाता है
मिलकर शोर मचाती है।
डांट लगाती जोर-जोर से
मम्मी की शामत आती है।
पापा जब खाना डालते
नाच नाच कर खाती है।
कुछ अपने लिए कुछ बच्चों के लिए
जेब भर के ले जाती है।

 

Twelfth poem 

अगले दिन वह जब
सवेरे सवेरे आती है
गंगाजल से नहा धोकर
बच्चों को भी संग लाती है
समय पर खाना मिल जाए तो
खूब गीत सुनाती है
थोड़ी सी भी देर हो जाए
घर – आंगन सिर उठा लेती है
ऐसी मेरी चिड़िया रानी
सज धज कर आती है। ।

Other informative post for kids

Hindi stories for class 1, 2 and 3

Months name in hindi with festivals

Name of week days in hindi

Human body parts name in hindi

Animals name in hindi and english

Fruits name in Hindi and English.

Hindi ginti 1 to 100 in hindi and english

Vegetable names in hindi and english with facts

Paheliyan in hindi with answer

List of Hindi tongue twisters easy and difficult

 

Name of the writer and author of these poems -> NISHIKANT

 

Follow us here

Follow us on Facebook

Subscribe us on YouTube

1 thought on “Hindi poem for class 1, 2 and 3 students – Easy language”

Leave a Comment