आत्मकथ्य कविता sanchipt parichay jaishankar prasad

आत्मकथ्य का संछिप्त परिचय जानने के लिए ये पोस्ट पूरा पढ़ें | आत्मकथ्य कविता का संक्षिप्त परिचय – Aatmkathya poem vyakhya प्रेमचंद के संपादन में हंस पत्रिका का एक आत्मकथा विशेषांक  निकलना तय हुआ। प्रसाद जी के मित्रों ने आग्रह किया कि वह भी आत्मकथा लिखें। प्रसाद जी इससे सहमत नहीं थे। इसी असहमति के …

Read more

तुलसीदास की समन्वय भावना, दोहे, रचनाये, पद और कविता। 

तुलसीदास जी का समन्वय भावना, दोहे, रचनाये, पद और कविता। निर्गुण और सगुण | विद्या और अविद्या माया |  तुलसीदासजी का जन्म संवत 1589 को उत्तर प्रदेश के राजापुर नामक ग्राम में हुआ था। इनके पिता का नाम आत्माराम दुबे तथा माता का नाम हुलसी था। तुलसीदासजी का विवाह दीनबंधु पाठक की पुत्री रत्नावली से हुआ था। तुलसीदास की …

Read more

तुलसी | नवधा भक्ति | भक्ति की परिभाषा | गोस्वामी तुलसीदास | तुलसी की भक्ति भावना

भक्त तुलसीदास | दशरथ के राम | भक्तिकी परिभाषा | गोस्वामी तुलसी दास की भक्ति भावना | गोस्वामी तुलसी दास की भक्ति भावना तुलसी नवधा भक्ति   तुलसीदास मूलतः एक भक्त हैं .उनका नाम राम बोला था .तथा उपनाम तुलसी था परंतु राम के भक्त अथवा दास होने के कारण वे तुलसीदास कहलाए . शांडिल्य नारद – आदि …

Read more

कवि नागार्जुन के गांव में | मैथिली कवि | विद्यापति के उत्तराधिकारी | नागार्जुन | kavi nagarjuna

विश्वनाथ त्रिपाठी विख्यात आलोचक विश्वनाथ त्रिपाठी नागार्जुन के जन्म  शताब्दी समारोह में भाग लेने नागार्जुन के गांव तरौनी गए हुए थे । यहां वह इस यात्रा के बहाने नागार्जुन को याद कर रहे हैं।   कवि नागार्जुन के गांव में | मैथिली कवि कवि नागार्जुन के गांव में लगभग 2 महीने पूर्व जब मुझे प्रगतिशील …

Read more

उपन्यास की संपूर्ण जानकारी | उपन्यास full details in hindi

उपन्यास की संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए यह पोस्ट पूरा पढ़ें | हिंदी विभाग आपको हर विषय पर नोट्स उपलब्ध करने का प्रयास करेगा | नाटक ,कथा ,उपन्यास  आदि गद्य की विधाऐं  हैं। साहित्य जगत में गद्य का विशिष्ट महत्व रहा है। गद्य क्षेत्र के पाठक का दायरा विस्तृत है ,मुद्रण के माध्यम से गद्य विधा की …

Read more