गुरु दक्षिणा | गुरु दक्षिणा का दिन एक नजर मे | guru dakshina rss |

गुरु दक्षिणा | gurudakshina rss |     आज सभी स्वयंसेवक मनमोहक लग रहे हैं ,क्योंकि आज एक विशेष दिन है। यह विशेष दिन वर्ष भर में एक बार आता है। इस दिन के लिए सभी स्वयंसेवक तन्मयता से उत्साह से वह अपनी आस्था से इंतजार करते हैं। यह विशेष दिन है गुरु दक्षिणा का। आज  दायित्ववान …

Read more

गुरु दक्षिणा RSS guru dakshina ki poori jankari

गुरुदक्षिणा अनेकों प्रकार की होती है। किंतु सामान्य तौर पर एक शिष्य द्वारा अपने गुरु को सप्रेम किया गया भेंट गुरुदक्षिणा कहलाता है।     गुरुदक्षिणा का उपयोग गुरु दक्षिणा की राशि का खर्च   यहां हम राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में होने वाले गुरुदक्षिणा की बात करते हैं। संघ में गुरु परम पवित्र भगवा ध्वज को माना गया है …

Read more

सूर का दर्शन | दार्शनिक कवि | सगुण साकार रूप का वर्णन | जीव | जगत और संसार | सूरदास जी की सृष्टि | माया | मोक्ष

सूर का दर्शन   साहित्य और दर्शन शास्वत सत्य है | दोनों का ही मुलतः  सृष्टि के रहस्यों का उद्घाटन करना होता है । साहित्य इन दायित्वों की त्रुटि अनुभूति के रुप में करता है और दर्शन एक विचार के रूप में बुद्धि प्रधान आत्यरेषण   दर्शन को जन्म देता है | जो तार्किकता और विश्लेषण में भाव …

Read more

समाज एवं शिक्षा | समाजशास्त्र | समाज की परिभाषा | समाज और एक समाज में अंतर | Hindi full notes

समाज एवं शिक्षा | समाजशास्त्र  | समाज और एक समाज में अंतर | समाज एवं शिक्षा में संबंध ( Relation between society and Education ) समाज एवं शिक्षा   सामान्य रूप से दो या दो से अधिक व्यक्तियों के समूह को समाज कहते हैं। व्यक्तियों इन समूहों का अध्ययन सामाजिक विज्ञान के अंतर्गत किया जाता है। मानव …

Read more

जयशंकर प्रसाद की प्रमुख रचनाएं jaishankar prasad ka sahityik parichay

प्रस्तुत लेख में जयशंकर प्रसाद के जीवन साहित्य और उनकी लेखनी विशेषता पर विस्तृत रूप से अध्ययन करेंगे। इस लेख के अध्ययन उपरांत आप लगभग जयशंकर प्रसाद के जीवन, साहित्य आदि को जान जाएंगे। इस लेख के अध्ययन से आप अपनी परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं। jayshankar prsad ki mukhy rachana प्रसाद जी कीरचनाओं …

Read more

शिवाजी।शिवाजी का राज्याभिषेक।आनंदनाम संवत्। प्रखर हिंदू सम्राट।शिवा राज्यारोहण उत्सव।हिंदू साम्राज्य दिनोत्सव।राजा जयसिंह

शिवाजी का राज्याभिषेक सन् 1674 में ज्येष्ठ शुक्ल त्रयोदशी को शिवाजी का राज्याभिषेक हुआ था, जिसे आनंदनाम संवत् का नाम दिया गया। महाराष्ट्र में पांच हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित रायगढ़ किले में एक भव्य समारोह हुआ था। इसके पश्चात् शिवाजी पूर्णरूप से छत्रपति अर्थात् एक प्रखर हिंदू सम्राट के रूप में स्थापित हुए।   महाराष्ट्र में यह दिन “शिवा राज्यारोहण …

Read more

हिंदू साम्राज्य दिवस | राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ | हिंदू साम्राज्य दिवस क्या है?

हिन्दू साम्राज्य दिवस की पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए यह पोस्ट पूरा जरूर पढ़े | अंत में हमने आरएसएस के सभी गीतों की लिस्ट दी है जिससे आप सभी गीत आराम से पढ़ सकते हैं | हिंदू साम्राज्य दिवस हिंदू साम्राज्य दिवस राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ परिवार वर्ष में एक बार निरंतर हिंदू साम्राज्य दिवस पर्व मनाता …

Read more

संघ की प्रार्थना नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे अर्थ सहित Rss prathna namaste sada

Sangh ki prarthana rss prayer with meaning in hindi

संघ की प्रार्थना नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे का अर्थ और उसका हिंदी काव्य अनुवाद पढ़ने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़े. सबसे पहले हम संपूर्ण प्रार्थना को पड़ेंगे और उसके बाद इसका अर्थ जानेंगे. अंत में आपको इसका काव्य अनुवाद भी पढ़ने को मिलेगा. संघ की प्रार्थना Rss prayer – Namaste sada vatsale …

Read more

आत्मकथ्य कविता sanchipt parichay jaishankar prasad

जयशंकर प्रसाद द्वारा लिखित आत्मकथ्य कविता उनके जीवन के उन क्षणों की स्मृति है। जिसमें उन्होंने केवल दुख को प्राप्त किया। उनके हाथों से खुशियां दिन प्रतिदिन कैसे निकलती रही। वह किस प्रकार अपने जीवन में विवश रहे अपने जीवन की आत्मकथा ना लिखकर उन्होंने प्रेमचंद के आग्रह पर आत्मकथ्य कविता लिखा। इस लेख में …

Read more