राधे ब्रज जन मन सुखकारी Radhe Vraja Jana Mana Sukhkari Lyrics

माना जाता है राधा रानी के जाप से सभी कष्टों का नाश होता है। बांके बिहारी अपनी कृपा राधा रानी के भक्तों पर सदैव बनाए रखते हैं। राधारानी भगवान श्री कृष्ण के प्रिय हैं और जो भक्त राधारानी का स्मरण करते हैं वह भगवान श्री कृष्ण बांके बिहारी के कृपा का पात्र होते है। प्रस्तुत लेख में आप राधा जी का भजन पढ़ेंगे और भक्ति लाभ लेंगे।

राधे ब्रज जन मन सुखकारी – In Hindi Lyrics

राधे ब्रज जन मन सुखकारी, राधे श्याम श्यामा श्याम

मोर मुकुट मकराकृत कुण्डल, गल वैजयंती माला,
चरणन नुपर रसाल, राधे श्याम श्यामा श्याम

सुन्दर वदन कमल-दल लोचन, बांकी चितवन हारी,
मोहन वंशी विहारी, राधे श्याम श्यामा श्याम

वृन्दावन में धेनु चरावे, गोपीजन मन हारी,
श्री गोवेर्धन धारी, राधे श्याम श्यामा श्याम

राधा कृष्ण मिली अब दोऊ, गौर रूप अवतारी,
कीर्तन धर्म प्रचारी, राधे श्याम श्यामा श्याम

तुम बिन मेरा और ना कोई, नाम रूप अवतारी,
चरणन में बलिहारी, राधे श्याम श्यामा श्याम,
नारायण बलिहारी, राधे श्याम श्यामा श्याम

Krishna Quotes in Hindi

radhe vraja jana mana sukhkari lyrics
radhe vraja jana mana sukhkari lyrics

शब्दार्थ- ब्रज-क्षेत्र का नाम, जन- जनता, सुखकारी- सुख देने वाला, नूपुर- घुंगरू, रसाल-रसपान कराने वाला, कमल दल- कमल के पत्ते। लोचन-आंख, चितवन-मन, विहारी-भ्रमण करने वाला, धेनु-गाय, गोपी जन- ब्रजभूमि की नारियां, गोवर्धन धारी- श्री कृष्ण का नाम, गौर रूप-सुंदर रूप,

भावार्थ- राधा जो ब्रज के जनमानस के लिए शुभकारी है उनको राधे राधे श्याम श्याम(नमस्कार), श्री कृष्ण जिनके मुकुट में मोर पंख है, कानों में मकरा कृत कुंडल है और गले में वैजयंती माला जिनके चरणों में घुंगरू सदैव बजते हैं और भक्तों को सदैव रसपान कराते हैं ऐसे श्री कृष्ण को राधे राधे श्याम श्याम। जिनके सुंदर बदन है कमल के पंखुड़ी समान नयन है जिनकी छटा और मनोहारी दृश्य भक्तों के चित्त को हर लेती है ऐसे मोहन बंसी वाले श्री कृष्ण को राधे राधे श्याम श्याम।

वृंदावन में जो अपनी गैया चराते गोपियों के मन को हर लेते जिन्होंने गोवर्धन पर्वत उठाकर ब्रिज वासियों की रक्षा की ऐसे गोवर्धन धारी को राधे राधे श्याम श्याम। ऐसे सुंदर रूप धारण करने वाली राधा को श्री कृष्ण मिल गए जो धर्म तथा कीर्तन का प्रचार करती हैं ऐसी राधा रानी को राधे राधे श्याम श्याम। श्री कृष्ण के बिना मेरा कोई नहीं तुम्हारे नाम और रूप भक्तों का कल्याण करते हैं तुम्हारे चरण पर मैं बलिहारी तुम्हें राधे राधे श्याम श्याम। हे नारायण हे श्री कृष्ण मैं तुम पर बलिहारी राधे राधे श्याम श्याम।

यह भी पढ़ें

Humko man ki shakti dena

Raghupati raghav rajaram lyrics

Shiv chalisa lyrics in hindi and english

शिवजी की आरती जय शिव ओंकारा (Shiv Aarti)

Sampoorna Durga chalisa lyrics in hindi

Durga Mata ki Aarti Lyrics in Hindi

Ambe Tu Hai Jagdambe Kali Lyrics (अम्बे तू है जगदम्बे काली)

Telegram channel

21 Ram bhajan lyrics

Ram Ji ki Aarti Lyrics in Hindi (श्री राम जी की आरती)

Shree Ram Chandra Kripalu Bhajman Lyrics in Hindi

Bhaye Pragat Kripala Lyrics (भए प्रगट कृपाला दीनदयाला)

समापन

श्री कृष्ण को भगवान रूप में प्राप्त करने का मार्ग श्री राधा रानी से होकर जाता है। जो भक्त श्री राधा रानी को प्रसन्न कर लेता है उसे अपने आप ही श्रीकृष्ण की भक्ति प्राप्त हो जाती है।

Sharing is caring

Leave a Comment