संवाद लेखन की परिभाषा और उदाहरण ( Samvad lekhan )

इस लेख के अंतर्गत संवाद लेखन की परिभाषा और उदाहरण के सभी आयामों से परिचित हो सकेंगे। संवाद लेखन क्या है ? किसे कहते हैं ? आदि को विस्तार पूर्वक समझ सकेंगे।

इस लेख को पढ़ने के बाद आप स्वयं संवाद लेखन का कार्य कर सकते हैं। पूछे गए प्रश्नों का ठीक प्रकार से उत्तर लिख सकेंगे। संवाद लेखन सी.बी.एस.ई. द्वारा कक्षा दसवीं तक पूछा जाता है। यह प्रश्न लगभग पांच अंक का होता है। जानकारी के अभाव में विद्यार्थी इस प्रश्न को छोड़ देते हैं। इस लेख को पढ़ने के बाद विद्यार्थी पूछे गए प्रश्नों का ठीक प्रकार से जवाब देकर पूर्ण अंक प्राप्त करेंगे।

संवाद लेखन

किसी दो या दो से अधिक व्यक्तियों के बीच की बातचीत को वार्तालाप , या कथोपकथन कहा जाता है। इस प्रक्रिया को व्याकरण की दृष्टि से संवाद भी कहा जाता है। संवाद के माध्यम से व्यक्ति अपने विचारों की अभिव्यक्ति कर पाता है। संवाद के दो माध्यम है मौखिक और लिखित । समाज में अपने विचारों के आदान-प्रदान की अभिव्यक्ति संवाद के माध्यम से संभव है।

दो या दो से अधिक व्यक्तियों के बीच के बातचीत को लिखित तौर पर प्रस्तुत संवाद लेखन के माध्यम से किया जाता है। संवाद लेखन करते समय छोटी-छोटी बारीकियों पर ध्यान देना आवश्यक है।

  • संवाद छोटे तथा अर्थ पूर्ण होने चाहिए।
  • संवाद की भाषा शैली आम बोलचाल की होनी चाहिए।
  • पात्र अनुकूल भाषा का प्रयोग किया जाना चाहिए।
  • क्लिष्ट तथा उच्चारण में कठिन लगने वाले शब्दों से बचना चाहिए।
  • बीच-बीच में मुहावरेदार भाषा शैली को भी अपनाना चाहिए।
  • संवाद लेखन में बनावटीपन नहीं लगना चाहिए।
  • सहज और स्वभाविकता पर बल देना चाहिए।

1. परीक्षा की तैयारी के लिए दो मित्रों के बिच संवाद लेखन कीजिये

( विशाल तथा रोहित दो मित्र हैं जो परीक्षा से दो दिन पूर्व आपस में परीक्षा के लिए फोन पर बातचीत कर रहे हैं। उनका संवाद कुछ इस प्रकार है।)

विशाल – हेलो रोहित !

रोहित – हां भाई , मैं रोहित बोल रहा हूं कैसे हो ?

विशाल – बस ठीक हूं भाई , और पढ़ाई कैसी चल रही है ?

रोहित – क्या बताऊं बस थोड़ी सी दिक्कत है ?

विशाल – क्या हुआ कहां दिक्कत आ रही है ?

रोहित – विज्ञान में प्रकाश संश्लेषण वाला विषय समझ नहीं आ रहा।

विशाल – मगर वह तो आसान है थोड़ा ध्यान से समझना होगा।

रोहित – क्या तुम मेरी हेल्प कर सकते हो ?

विशाल – हां क्यों नहीं?

रोहित – कल स्कूल में मुझे समझा देना।

विशाल – ठीक है लंच के समय हम दोनों बैठ कर इस विषय को क्लियर कर लेंगे।

रोहित – ठीक है भाई थैंक यू।

विशाल – कोई बात नहीं भाई , दोस्ती दोस्त के काम आते हैं।

Telegram channel

रोहित – और तुम्हारी पढ़ाई कैसी चल रही है।

विशाल – मेरी पढ़ाई तो बढ़िया हो रही है बस थोड़ा परीक्षा का टेंशन हो रहा है।

रोहित – कोई बात नहीं सब बढ़िया होगा मुझे उम्मीद है।

विशाल – हां भाई ऐसा ही हो और सब बढ़िया है ?

रोहित – हां सब बढ़िया है

विशाल – ठीक है फिर विद्यालय में मिलते हैं।

रोहित – अच्छा ठीक है बाय

विशाल – बाय नमस्कार

Also read, after reading this post

फीचर लेखन क्या है Feature lekhan

विज्ञापन लेखन कैसे लिखें 

मीडिया लेखन Media lekhan in hindi

सन्देश लेखन

2 कॉलेज में दाखिला लेने के लिए काउंटर पर वार्तालाप लिखिए

(बारहवीं कक्षा की परीक्षा के बाद कॉलेज में एक विद्यार्थी जानकारी देने के लिए कॉलेज जाता है सहायता केंद्र पर सहायक से बातचीत करता है उसकी बातचीत इस प्रकार है – )

विद्यार्थी – नमस्कार श्रीमान।

सहायक – नमस्कार

विद्यार्थी –मुझे कॉलेज में उपलब्ध कोर्स के विषय में जानना है।

सहायक – पूछिए क्या पूछना चाहते हैं ?

विद्यार्थी – दरअसल मैंने अभी 12वीं कक्षा की परीक्षा दी है विज्ञान विषय से। आपके कॉलेज में क्या क्या कोर्स उपलब्ध है।

सहायक – हमारे कॉलेज में स्नातक विज्ञान , कंप्यूटर साइंस , जीव विज्ञान आदि कई विशेष कोर्स उपलब्ध है।

विद्यार्थी – श्रीमान इसकी विस्तृत जानकारी मिल सकती है क्या ?

सहायक – हां अवश्य कॉलेज की विस्तृत जानकारी के लिए आपको ब्रोशर लेना पड़ेगा जिसका शुल्क ₹10 है।

विद्यार्थी – जी अवश्य एक ब्रोशर मुझे दे दीजिए।

सहायक – उसके लिए आपको काउंटर नंबर दो पर जाना होगा।

विद्यार्थी – जी धन्यवाद

सहायक – धन्यवाद आपका दिन शुभ हो।

Also read

बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए पुलिस आयुक्त को पत्र

संपादक को पत्र – जलभराव कठिनाइयों के लिए

3 बस कंडक्टर से वार्तालाप का संवाद लेखन करिये।

यात्री – हेलो , यह बस कहां जा रही है ?

कंडक्टर – आपको कहां जाना है ?

यात्री – मुझे हरिद्वार जाना है।

कंडक्टर –हरिद्वार तो नहीं मगर , रुड़की तक जाएगी।

यात्री – अच्छा मैं हरिद्वार के बस का इंतजार कर रहा था।

कंडक्टर – हरिद्वार जाने वाली बस दो घंटे बाद आएगी चाहो तो रुड़की तक चल सकते हो।

यात्री – वहां से हरिद्वार कितनी दूर है ?

कंडक्टर – 15 से 20 मिनट का रास्ता है।

यात्री – रुड़की का किराया कितना है ?

कंडक्टर – ₹110

यात्री – और रुड़की से हरिद्वार का कितना रुपया लगेगा ?

कंडक्टर – ₹15 वहां से लगेंगे।

यात्री – साधन तो मिल जाएगा ?

कंडक्टर – हां रिक्शा बस ऑटो सब साधन मिल जाएगा।

यात्री – ठीक है।

Also read

बाढ़ राहत कार्य की अपर्याप्त व्यवस्था की ओर ध्यान आकृष्ट करने हेतु पत्र

स्वास्थय अधिकारी को पत्र

4 आधार कार्ड में सुधार करवाने के लिए संवाद

ग्राहक  – नमस्कार सर कुछ जानकारी प्राप्त करना चाहता हूं।

अधिकारी  – नमस्कार जी पूछिए

ग्राहक  – आधार कार्ड में मुझे अपना निवास स्थान का पता परिवर्तन कराना है।

अधिकारी  – उसके लिए आपको एक फॉर्म भरना पड़ेगा।

ग्राहक  – और कुछ की आवश्यकता तो नहीं ?

अधिकारी – वर्तमान स्थान का निवास प्रमाण पत्र देना होगा।

ग्राहक – निवास प्रमाण पत्र में क्या मान्य है ?

अधिकारी – बिजली का बिल  ,फोन का बिल , घर का टैक्स आदि मान्य है।

ग्राहक – वोटर आईडी कार्ड भी मान्य होगा ?

अधिकारी – निवास स्थान के केस में यह मान्य नहीं है।

ग्राहक – इसके लिए बायोमेट्रिक की भी आवश्यकता है ?

अधिकारी – हां बायोमेट्रिक और आधार कार्ड से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर की भी आवश्यकता होगी।

ग्राहक – जी धन्यवाद कार्यालय का समय क्या है या और बता दीजिए।

अधिकारी – प्रातः 10:00 से सायं 5:00 बजे तक का समय ग्राहकों के लिए है।

ग्राहक – धन्यवाद सर।

यह भी पढ़ें

अभिव्यक्ति और माध्यम

हिंदी व्याकरण की संपूर्ण जानकारी

हिंदी बारहखड़ी

सम्पूर्ण अलंकार

सम्पूर्ण संज्ञा 

रस के प्रकार ,भेद ,उदहारण

सर्वनाम और उसके भेद

अव्यय के भेद परिभाषा उदहारण 

संधि विच्छेद 

समास की पूरी जानकारी 

क्रिया की परिभाषा, भेद, उदाहरण

पद परिचय

स्वर और व्यंजन की परिभाषा

संपूर्ण पर्यायवाची शब्द

वचन

विलोम शब्द

वर्ण किसे कहते है

हिंदी वर्णमाला

निष्कर्ष

समग्रतः कहा जा सकता है कि दो या दो से अधिक व्यक्तियों के बीच की वार्तालाप को संवाद कहते हैं। लिखने की प्रक्रिया में इसे संवाद लेखन कहा जाता है। संवाद लेखन का विषय पात्रों के अनुकूल होना चाहिए , उसकी भाषा शैली भी पात्रों को ध्यान में रखकर लिखी जानी चाहिए। कृत्रिम शब्दावली और से बच कर रहना चाहिए।

संवाद लेखन व्याकरण का एक अंग है, यह कक्षा दसवीं तक की परीक्षाओं में अधिकतर पूछा जाता है। अगर आपको इसमें अच्छे अंक हासिल करने है तो आपको यह ज्ञात होना चाहिए कि संवाद के प्रमुख बिंब क्या होते हैं जिसके आधार पर दो व्यक्तियों के बीच का संवाद लिखा जाता है। आपको न सिर्फ प्रमुख बातें मालूम होना चाहिए बल्कि आपको यह भी पता होना चाहिए कि एक संवाद किस तरीके से प्रस्थान करता है।

हमें आशा है उपरोक्त अध्ययन के बाद आपको संवाद लेखन की शैली का ज्ञान हुआ होगा।  आप किसी भी विषय पर संवाद लेखन कर सकते हैं।  किसी भी प्रकार की समस्या के लिए हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर बता सकते हैं। हिंदी विषय में किसी भी प्रकार की सहायता के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते हैं। हमारे अधिकारी आपकी सहायता यथाशीघ्र करेंगे बस आप कमेंट बॉक्स में अपने मैसेज को लिखें।

Sharing is caring

3 thoughts on “संवाद लेखन की परिभाषा और उदाहरण ( Samvad lekhan )”

  1. संवाद लेखन के और भी उदाहरण जरूर डालें ताकि इस विषय पर और गहराई से जानकारी मिल सके

    Reply
    • आपके सुझाव के लिए धन्यवाद, कुछ ही समय बाद आपको यहां पर अन्य उदाहरण भी देखने को मिलेंगे संवाद लेखन विषय के.

      Reply
  2. Sir, nice and knowledgeable article about samvad lekhan in Hindi. Thank you for the right information.

    Reply

Leave a Comment