SEO क्या है ? कैसे करें ? पूरी जानकारी – SEO in Hindi

Today we will learn everything about SEO in Hindi with details.

इस पोस्ट को अगर आप अंत तक पूरा पढ़ते हैं तो हमारा यह दावा है कि आपको SEO का पूरा ज्ञान हो जाएगा और आपको फिर कुछ और पढ़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

जो लोग ब्लॉगिंग करते हैं उनके लिए SEO का महत्व बहुत ख़ास होता है | इसके हर एक अंग को समझना बहुत जरूरी होता है |

इसलिए हमने सोचा है कि हम एक ही पोस्ट में हर एक बात लिख देंगे जो आवश्यक है जानने के लिए. आपसे बस इतना अनुरोध है कि आप इस पोस्ट को पूरा अवश्य पढ़ें क्योंकि तभी आप समझ पाएंगे इस विषय को बारीकी से.

What is the Full form of SEO?

Search engine optimization.

SEO क्या है ?

यह एक ऐसा फॉर्मूला है जिसकी मदद से लोग अपने वेबसाइट को गूगल के पहले पेज पर लाते हैं। आजकल वेबसाइट बनाना और ब्लॉगिंग करना कोई मुश्किल काम नहीं रह गया है परंतु SEO समझना और करना आज भी मुश्किल है।

ऐसा इसलिए भी है क्योंकि इसके मायने बदलते रहते हैं।

गूगल अपनी नई नई पॉलिसी लाता रहता है जिसमें आपको हर पहलू को नए सिरे से समझना पड़ता है और उसके हिसाब से काम करना पड़ता है.

तभी आप अपने ब्लॉग को Rank करवा सकते हैं वरना नहीं।

परंतु हम SEO को 90% तो समझ ही सकते हैं। जो कि आज हम अपने इस ब्लॉग में आप को समझाने वाले हैं।

Read this post first for blogging knowledge – Blogging kya hai 

 

ब्लॉगर SEO क्यों करते हैं?

वेबसाइट अथवा ब्लॉग को गूगल में पहले पेज पर लाने के लिए यह किया जाता है।

  • आप अपने वेबसाइट को रैंक करवा कर पैसे कमा सकते हैं.
  • और दूसरों की वेबसाइट को भी रैंक करवा कर पैसे कमा सकते हैं उनसे पैसे लेकर।
  • एफिलिएट मार्केटिंग करने के लिए मतलब की कोई प्रोडक्ट बिकवाने के लिए।

अगर आप इस फील्ड के खिलाड़ी बन जाए तो आप दिमाग लगाकर लाखों से करोड़ों भी कमा सकते हैं।

क्योंकि इसकी मांग हर जगह है।

आजकल कोई भी ब्लॉग बना लेता है परंतु उसके पैसा कमाने की ख्वाहिश तब तक अधूरी रहती है जब तक उसका वेबसाइट गूगल में ऊपर नहीं आता। आप यहीं पर उसकी मदद कर सकते हैं अगर आपको SEO आता है तो।

 

SEO कैसे करें ? How to do SEO in hindi?

इसे करने के बहुत सारे तरीके हे। इस ब्लॉग पोस्ट में आपको सारी जानकारी मिलने वाली है कि आप इसे कैसे कर सकते हैं. आप को ध्यान पूर्वक नीचे लिखी हुई बातों को पढ़ना होगा और समझना होगा ताकि आप अपनी वेबसाइट को गूगल में रैंक करवा सके।

हम इसको दो बड़े हिस्से में बाँट सकते हैं

पहला है On page SEO और दूसरा है Off Page SEO

 

ऑन पेज SEO क्या है ? On Page SEO in hindi

इस प्रकार की SEO शैली का इस्तेमाल कब किया जाता है जब आप कोई पोस्ट अथवा लेख अपने वेबसाइट पर लिख रहे हैं। अगर आपको गूगल में सबसे ऊपर रैंक करना है तो आपको इस वाले शैली को सीखना होगा और अच्छे तरीके से इस्तेमाल भी करना होगा।

इसमें बहुत सारी चीजें आती है

जैसे कि आपके वेबसाइट की गति , आपके कंटेंट लिखने का तरीका , आपने किस चीज को टारगेट किया है किस कीवर्ड को टारगेट किया है , और आपने अपने महत्वपूर्ण कीवर्ड को कितनी जगह दी है अपने पोस्ट में यह सारी चीजें इस में आती है . चलिए बारीकी से एक एक वस्तु को अध्ययन करते हैं और समझते हैं कि किस तरीके से काम करता है .

 

1. Website speed

  • वेबसाइट की स्पीड बहुत आवश्यक पहलु है |
  • गूगल में रैंक करने के लिए वेबसाइट की स्पीड तेज़ होना बहुत आवश्यक है |
  • स्पीड तेज़ होने का मतलब ये है की वेबसाइट कितनी जल्दी पूरी लोड होती है |
  • अगर किसी वेबसाइट को लोड लेने में 4 सेकंड लगता है और दूसरी वेबसाइट को 1 सेकंड लगता है तो इसमें से गूगल 1 सेकंड वाली वेबसाइट को ज्यादा इज्जत देगा मतलब 1 सेकंड वाले की रैंक अच्छी होने की संभावना है।

होस्टिंग का भी महत्व बहुत होता है website speed में।

Hosting konsi kharide ? Sasti hosting kese kharide

 

2. Design of website

  • वेबसाइट का डिजाइन हमेशा अच्छा होना चाहिए।
  • Design का अर्थ यह नहीं कि आप ज्यादा से ज्यादा चिड़िया और फूल पत्ती अपनी वेबसाइट पर लगाएं।
  • बल्कि इससे आशय यह है कि जितना हो सके उतना साधारण Design रखकर लोगों को बिना ज्यादा परेशान किए उनको जो चाहिए अपने वेबसाइट पर दें।
  • आपके वेबसाइट पर खिचड़ी नहीं बनी होनी चाहिए और हर एक वस्तु लोगों एक नजर में देखकर समझ में आ जाना चाहिए।

अगर लोग आप की वेबसाइट पर आते हैं और उन्हें वेबसाइट का Design पसंद नहीं आता और वह Back button दबाकर किसी और वेबसाइट पर चले जाते हैं तो इसका संकेत गूगल को गलत जाएगा और आपकी वेबसाइट को गूगल नीचे कर देगा। इसलिए अपनी वेबसाइट का डिजाइन ऐसा रखें जो देखने में अच्छा लगता हो और आप के कंटेंट को अच्छे से लोगों के सामने प्रस्तुत करता हो।

वेबसाइट के डिजाइन में आपका होमपेज कैसा दिखता है यह भी बहुत महत्वपूर्ण है।

आपका होम पेज वह जगह होता है जहां पर लोग एक बार पोस्ट पढ़ने के बाद अवश्य आते हैं। इसलिए आपको थोड़ा वक्त अपने होमपेज को सजाने में अवश्य लगाना चाहिए और वहां पर ऐसी महत्वपूर्ण वस्तु रखनी चाहिए जो दर्शकों को आपके वेबसाइट पर बार-बार आने पर मजबूर करें।

Seo kya hai kaise kare in hindi

3. Title tag

जब आप गूगल पर कुछ सर्च करते हैं तो पहले पेज पर आपको 10 परिणाम दिखते हैं।

अब आप सोचिए कि आप उन 10 में से किस पर क्लिक करना पसंद करेंगे। उसी पर जिस टाइटल में आपको आपके काम की वस्तु दिखाई देगी।

बस यही है टाइटल टैग का पूरा इस्तेमाल।

  • जब आप पोस्ट लिखें तो इस बात का ध्यान रखें कि जो टाइटल आपने अपने पोस्ट को दिया है वह सही हो ।
  • अर्थात कुछ भी उटपटांग ना हो |
  • अगर आपने लिखा है कि पिज्जा कैसे बनाते हैं तो अंदर पिज्जा को बनाने की विधि वगैरह ही होनी चाहिए और कुछ नहीं।
  • क्योंकि तभी लोग आपकी वेबसाइट पर रुकेंगे और आप के कंटेंट को पड़ेंगे अथवा वह वेबसाइट से बाहर आ जाएंगे।
  • यह गूगल को दिखाएगा कि आपने कुछ ना कुछ गलती जरूर करी है।

इसलिए अपने टाइटल को हमेशा ऐसा रखें कि लोग देखते ही क्लिक करें और वहां पर समय भी बताएं।

 

4. Meta Description

यह वह जगह है जहां पर आप थोड़ा विस्तार से बता सकते हैं कि आप किस चीज के ऊपर लिख रहे हैं। जैसे कि मान लीजिए आप ने पिज्जा बनाने के बारे में लिखा है तो आप यह बता सकते हैं कि आप किस तरीके का पिज़्ज़ा बनाने की बात कर रहे हैं और आपके पोस्ट में क्या ऐसी खासियत है जो लोगों को जरूर देखनी चाहिए।

यहां पर आपको कुल मिलाकर प्रभावी चीजें डालने चाहिए जो लोगों का ध्यान आकर्षित करें।

 

5. Internal links

इंटरनल लिंक बहुत आवश्यक चीज है जो बहुत सारे ब्लॉगर आजकल नहीं करते हैं।

इंटरनल लिंक का मतलब होता है कि अपने ही वेबसाइट की जो पहले से लिखी अन्य पोस्ट हैं उन पर लिंक देना।

मान लीजिए आप ने पांच पोस्ट अभी तक लिखी है।

अब जो आप अगली पोस्ट लिखेंगे उसमें आपको पिछले लिखी पांच पोस्ट की लिंक देना आवश्यक है।

इसे ही इंटरनल लिंक कहा जाता है।

 

6. External links

जब आप अपनी वेबसाइट से दूसरे वेबसाइट को लिंक देते हैं तो उसे एक्सटर्नल लिंक कहा जाता है।

एक्सटर्नल लिंक देना बहुत आवश्यक होता है अगर आपको अपनी पहचान गूगल में बनानी है तो। परंतु एक बात का ध्यान रखें कि अगर आपकी वेबसाइट टेक्नोलॉजी के ऊपर है तो टेक्नोलॉजी वाली वेबसाइट को ही लिंक दे। किसी अन्य विषय पर आधारित वेबसाइट को लिंक देना खतरनाक साबित हो सकता है गूगल के नजरिए से।

अगर आप अपने क्षेत्र में किसी को लिंक प्रदान करते हैं तो यह बहुत ही अच्छी बात होती है गूगल की नजर में। उदाहरण के लिए हमारी वेबसाइट हिंदी विभाग कहानी की वर्ड के ऊपर रैंक करती है तो आप कि अगर वेबसाइट कहानी से संबंधित है तो आप हमें लिंक दे सकते हैं जिसके कारण आपको गूगल में तुरंत पहचान प्राप्त होगी कहानी की वर्ड पर।

 

7. Keyword density

जब आप कोई ब्लॉग पोस्ट लिखें तो उसमें एक बात का ध्यान रखें कि जिस Keyword को आप गूगल में रैंक करवाना चाहते हैं उसकी मात्रा ज्यादा हो। अर्थात मान लीजिए कि आपको मोबाइल फोन के ऊपर रैंक करना है तो आपको अपने ब्लॉग पोस्ट में मोबाइल फोन keyword की मात्रा को ज्यादा रखना पड़ेगा।

तभी आपका ब्लॉग गूगल में सही तरीके से रैंक करेगा।

लेकिन इस बात का भी जरूर ध्यान रखें कि बहुत ज्यादा कीवर्ड का इस्तेमाल ना करें वरना नुकसान भी हो सकता है। उतना ही की वर्ड का प्रयोग करें जितना आपको पोस्ट में आप सकता है। अगर आप जरूरत से ज्यादा प्रयोग करते हैं तो आपको गूगल रैंकिंग के क्षेत्र में सजा दे सकता है और आपकी वेबसाइट को बहुत नुकसान हो सकता है।

अगर आप WordPress का इस्तेमाल करते हैं तो Yoast SEO प्लगइन का इस्तेमाल करें।

 

8. Headings ( H1 H2 H3 ….. )

हेडिंग्स 6 तरीके की होती है।

अपने ब्लॉग पोस्ट में हेडिंग्स का इस्तेमाल जरूर करें।

और खासकर h1 और h2 का इस्तेमाल जरूर करें।

क्योंकि यह दोनों हेडिंग्स ऐसे होते हैं जो गूगल में ज्यादा रैंक होते हैं।

अपने सारे महत्वपूर्ण कीवर्ड इसी में डालें ताकि आपकी रैंकिंग गूगल में अच्छी हो।

अगर आपने पोस्ट लंबा लिखा है तो उसमें बाकी हेडिंग्स का भी इस्तेमाल जरूर करें और अपने महत्वपूर्ण कीवर्ड वहां भी डालें। यह एक ऐसा फार्मूला है जो बहुत कम लोग इस्तेमाल करते हैं अगर आप करेंगे तो आपको ज्यादा फायदा होगा।

 

9. Images Alt Tag

जब आप अपने वेबसाइट पर इमेज अपलोड करते हैं तब वहां पर Alt tag डालने का ऑप्शन आता है।

यह डालना बहुत आवश्यक होता है हर इमेज के लिए।

क्योंकि जिस प्रकार आपका ब्लॉग पोस्ट रैंक करता है उसी प्रकार इमेज भी गूगल में रैंक करती है।

और चाहे आप इमेज रैंक करवाएं या फिर पोस्ट दोनों ही आपको भर भर के गूगल से ट्रैफिक दे सकता है अगर वह सही तरीके से ऊपर आए तो।

Off-page SEO in Hindi

Off page SEO मे दो महत्वपूर्ण वस्तुए आती है.

  • पहला है backlink बनाना और 
  • दूसरा है Social media से ट्रैफिक लेना. 

Backlink लेने से यह फायदा होता है कि आपके वेबसाइट की वैल्यू गूगल के नजर में बहुत अच्छी बनती जाती है . जितनी अच्छी वेबसाइट से आप लिंक लेंगे उतनी ही अच्छी आपकी रैंकिंग होगी गूगल में .

इसलिए डेकलिंक लेना बहुत आवश्यक हो जाता है .

अब लेकिन बात आती है कि इसे बनाते कैसे हैं और क्या क्या ऐसे जरिए है जिसकी मदद से हम ऐसा कर सकते हैं .

परेशान होने की कोई जरूरत नहीं।

वह सब हमने नीचे दे रखा है – कि आप लिंक कैसे बना सकते हैं और सोशल मीडिया अकाउंट से ट्रैफिक कैसे ले सकते हैं .

 

1. Guest Post

  • गेस्ट पोस्ट करना बहुत आवश्यक होता है अगर आपको अपने वेबसाइट को आगे पहुंचाना है।
  • मान लीजिए आप की वेबसाइट पर आप लिखते हैं मोबाइल फोन के बारे में। तो आपको ऐसी किसी वेबसाइट को ढूंढना होगा जो मोबाइल फोन के बारे में लिखती है और वहां पर आपको एक पोस्ट लिखना होगा।
  • बहुत सारी वेबसाइट गेस्ट पोस्ट को चलाती हैं और कितने मना कर देते हैं।
  • लेकिन आपको प्रयास द्वारा ढूंढना होगा कि कौन आपको permission देता है और कौन नहीं।

अगर आपकी पोस्ट स्वीकार कर ली जाती है और आपको अगर लिंक मिल जाता है। तो समझ लीजिए इसे ही गेस्ट पोस्ट कहते हैं।

आप चाहे तो हमारे वेबसाइट पर भी गेस्ट पोस्ट कर सकते हैं। उसके लिए आपको हमारे वेबसाइट के गेस्ट पोस्ट पेज पर जाना होगा और वहां पर सभी प्रकार के नियमों को पढ़ना होगा। अगर आप सभी नियमों पर खरे उतरते हैं तो आप हमें गेस्ट पोस्ट दे सकते हैं हम उसे अपने वेबसाइट पर अवश्य पब्लिश करेंगे।

seo in hindi
SEO in hindi

2. Social media links and traffic

सोशल मीडिया पर आपकी वेबसाइट किस तरीके से दिखती है इस पर गूगल की निगाह रहती है।

इसलिए आपको अपना वर्चस्व सोशल मीडिया पर भी बनाना पड़ेगा।

आपको कुछ ऐसा करना पड़ेगा कि लोग आपके वेबसाइट पर फेसबुक टि्वटर और ऐसे ही अन्य सोशल मीडिया अकाउंट से आए।

यह बहुत आवश्यक है क्योंकि यह सोशल मीडिया साइट बहुत बड़ी बड़ी value वाली होती है।

इन पर से ट्रैफिक लेना गूगल को एक अच्छा संकेत देता है।

Some important social media websites

1. Facebook

2. Linkedin

3. Twitter

4. Instagram

5. Tumblr

6. Youtube

7. Vimeo

 

3. Traffic and link from Quora

  • यह एक बहुत अच्छा प्लेटफार्म है जहां पर आप लोगों के सवालों के जवाब दे सकते हैं और ट्रैफिक पा सकते हैं।
  • यहां से ट्रैफिक लेने के बहुत सारे फायदे हैं।
  • पहला तो आपको डकलिंग तो मिल जाती है और दूसरा आपको ट्रैफिक मिलता है।
  • और तीसरे में आपके वेबसाइट का वर्चस्व बनता है।
  • लोग आपकी वेबसाइट को जानने लगते हैं जो की बहुत महत्वपूर्ण चीज है ऑनलाइन दुनिया में।

अगर आपको कोरा पर सही तरीके से काम करना है तो आपको प्रतिदिन 20 से 30 उत्तर देने होंगे और वह भी ज्यादा शब्द वाले। लोग यहां पर जितना आपको लाइक करते हैं उतना आपका उत्तर अन्य लोगों तक पहुंचाया जाता है जिसके कारण आपकी वेबसाइट ज्यादा लोगों तक पहुंचेगी। इस बात का जरूर ध्यान रखें कि आपके उत्तर सही होने चाहिए और किसी भी तरीके से भ्रामक नहीं होने चाहिए वरना यह वेबसाइट आपको हटा भी सकती है।

 

4. Traffic and link from Pinterest

  • यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां पर आप कोई भी फोटो अपलोड कर सकते हैं और बैकलिंक ले सकते है।
  • इस प्लेटफार्म पर जब आप कोई इमेज अपलोड करेंगे तो बहुत सारे लोगों तक पहुंचती है।
  • जितनी सुंदर और प्रेरणादायक इमेज होगी उतना ही लोग आपकी इमेज को शेयर करेंगे और आप ढेर सारे लोगों तक आसानी से पहुंच सकते हैं.
  • कुल मिलाकर आप यहां से बहुत सारा ट्रैफिक उठा सकते हैं।
  • और बहुत सारे लोगों तक अपनी वेबसाइट को पहुंचा सकते हैं।

इस वेबसाइट पर फेमस होने के लिए आपको सबसे पहले लोगों के पोस्ट पर जाकर कमेंट करना पड़ेगा।

और जो फेमस लोग हैं उनको फॉलो करना पड़ेगा ताकि आप उनके नजर में आए। कई बार ऐसा होता है कि बड़े-बड़े लोग आपके पोस्ट को खुद आगे बढ़ाते हैं अगर उन्हें पसंद आती है तो। इसलिए आपको जितना हो सके उतना अच्छा कंटेंट बनाना चाहिए और उसमें अच्छी जानकारी प्रस्तुत करने चाहिए ताकि लोग आपको पसंद करें।

 

5. More other ways to make backlinks

You will learn below to make backlinks in other ways for seo in hindi.

अन्य तरीके भी है जिसकी मदद से आप लिंक बना सकते हैं।

आप वेबसाइट पर कमेंट कर सकते हैं और अपनी वेबसाइट का लिंक दे सकते हैं जिसकी मदद से आपको backlink आसानी से प्राप्त हो जाएगी। जैसे कि अगर आप हमारे इस पोस्ट के लिए नीचे कमेंट करते हैं तो आपको यहां से बैंक लिंक जरूर मिल जाएगी। बहुत सारे ऐसे भी प्लेटफॉर्म है जहां पर आप अपने लिखे हुए आर्टिकल को शेयर कर सकते हैं और बहुत सारे लोगों तक पहुंचा सकते हैं।

आपको ऐसे प्लेटफॉर्म ढूंढने पड़ेंगे और वहां पर अपना आर्टिकल शेयर करना होगा।

इसकी मदद से ना सिर्फ आप ट्रैफिक ले सकते हैं बल्कि गूगल में अपनी पहचान और अच्छी कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए

Document Upload करने वाली साइट ( slideshare.net ) सबसे बेहतरीन होती है लिंक बनाने के लिए।

उसमें आपको थोड़ी मेहनत लगेगी लेकिन वह बहुत अच्छा जरिया है अपनी वेबसाइट की पहचान बनाने का।

 

कुछ जरूरी शब्द – Important note regarding SEO in Hindi

SEO एक ऐसा साधन है जिसके प्रयोग से आप अपने वेबसाइट को गूगल में पहले पन्ने पर ला सकते हैं और खूब पैसा कमा सकते हैं। यह करना इतना आसान नहीं होता वर्षों का अभ्यास चाहिए होता है और अनुभव की भी बहुत मात्रा में आवश्यकता होती है।

आपको हर एक कदम पर सभी प्रकार की जानकारी होनी बहुत आवश्यक है ताकि आप कहीं भी गलती ना करें और गूगल द्वारा सजा ना पाए।

एक बात का सदैव ध्यान रखें कि किसी भी चीज का अति ना करें.

मतलब यह है कि अगर आप लिंक बनाए तो हद से ज्यादा ना बनाएं. और ऊपर लिखी सभी चीजों को एक मात्रा में ही करें अगर आप उसी को हद से ज्यादा करते हैं तो गूगल इसे भी गलत मानता है .

जो वेबसाइट हद से ज्यादा लिंक बनाती है वह गूगल द्वारा हटा दी गई है पिछले वर्षों में .

अगर आपको ऑनलाइन ठीक तरीके से काम करना है तो एक बात आपको हमेशा अपने दिमाग में रखनी पड़ेगी आपको हर चीज एक दायरे में करनी होगी .

 

निष्कर्ष – Final words about SEO in hindi

आशा करते हैं कि आपको इस विषय के बारे में हर चीज समझ में आ गई होगी.

SEO ज्यादा मुश्किल नहीं होता अगर आप इसको ठीक तरीके से समझे. और सबसे बड़ी बात यह है कि जितना आप प्रयास करेंगे उतना आपको यह समझ में आएगा. आपको लगातार इस विषय पर काम करते रहना होगा और हर चीज को खुद आजमा कर देखना होगा तभी आप समझ पाएंगे कि किस तरीके से यह काम करता है.

अगर आपको कोई भी समस्या आती है या कुछ समझ में नहीं आता है तो आप नीचे कमेंट जरूर करें. हम कोशिश करते हैं कि हर कमेंट का रिप्लाई करें इसलिए आपकी समस्या का समाधान भी बड़े आराम से हो जाएगा. अगर आपको इस विषय से संबंधित या कोई अन्य नया विषय पर जानकारी चाहिए तो वह भी जरूर लिखें ताकि हम उसके ऊपर एक नया पोस्ट लिख सकें.

Hope you have learned everything about SEO in hindi.

If there is still any doubt then you can ask in the comment box section below the post.

Follow us on below social media handles

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

23 thoughts on “SEO क्या है ? कैसे करें ? पूरी जानकारी – SEO in Hindi”

    • Thanks Hindi infotech for your beautiful comment.
      And we are glad to share our expertise through this website.

      Reply
    • Thanks shweta.
      You should also read related articles on blogging, and making money articles in hindi.
      We think you will love those articles too.

      Reply
    • Thanks ramesh for your kind words.
      We will upload more articles in future , stay up to date with our blog.

      Reply
    • You’re welcome Ankit.
      You can also read about Blogging in Hindi and how to make a website in Hindi post on our website too.

      Reply
  1. Aapne bahot hi achha article likha h jisme Puri information h SEO ke baare me,
    Aapka article padh ke bahot confidence Mila h
    Thank you so much

    Reply
  2. इस टॉपिक पर बहुत कम है लेख है जो अच्छी जानकारी देते हैं। मैं आपको धन्यवाद करना चाहता हूं आपने मेरी मदद करी है इसको समझने में।

    Reply
  3. आपने बहुत अच्छा लेख लिखा है seo पर आपका ये लेख मेरे लिए बोहत काम आएगा धन्यवाद सर

    Reply
  4. Thank you for a good suggestion. I have really got useful information on this topic in easy language. You have explained it very well.

    Reply
  5. SEO is not that easy. I am working on it and learning from years but still, I cannot understand it till now.

    Reply
  6. जी हमारा नाम राजकुमार हम अपका धनयवाद अपका ओके वॉय

    Reply

Leave a Comment