अमृत वचन।आरएसएस। संघ के नित्य अमृत वचन। amrit vachan

  अमृत वचन   => १ स्वामी विवेकानद ने कहा ( अमृत वचन ) – ” लुढ़कते पत्थर में काई नहीं लगती ” वास्तव में वे धन्य है जो शुरू से ही जीवन का लक्ष्य निर्धारित का लेते है। जीवन की संध्या होते – होते उन्हें बड़ा संतोष मिलता है कि उन्होंने निरूद्देश्य जीवन नहीं जिया …

Read moreअमृत वचन।आरएसएस। संघ के नित्य अमृत वचन। amrit vachan