राम काव्य परंपरा।राम काव्य की प्रवृत्तियां।भक्ति काल की पूर्व पीठिका।रीतिकाल रीतिकाव्य

राम काव्य परंपरा Ram kavya Tulsidas   वैसे ‘ राम ‘ शब्द का प्रयोग वेदों में कुछ स्थलों पर अवश्य हुआ है , परंतु यह राम दशरथ पुत्र राम है। दक्षिण भारत के रामानुजाचार्य ने श्री वैष्णव संप्रदाय की स्थापना की थी। जिसमें नारायण के रूप में विष्णु की उपासना का विधान था। आचार्य रामचंद्र …

Read moreराम काव्य परंपरा।राम काव्य की प्रवृत्तियां।भक्ति काल की पूर्व पीठिका।रीतिकाल रीतिकाव्य

तुलसी | नवधा भक्ति | भक्ति की परिभाषा | गोस्वामी तुलसीदास | तुलसी की भक्ति भावना

भक्त तुलसीदास | दशरथ के राम | भक्तिकी परिभाषा | गोस्वामी तुलसी दास की भक्ति भावना | गोस्वामी तुलसी दास की भक्ति भावना तुलसी नवधा भक्ति   तुलसीदास मूलतः एक भक्त हैं .उनका नाम राम बोला था .तथा उपनाम तुलसी था परंतु राम के भक्त अथवा दास होने के कारण वे तुलसीदास कहलाए . शांडिल्य नारद – आदि …

Read moreतुलसी | नवधा भक्ति | भक्ति की परिभाषा | गोस्वामी तुलसीदास | तुलसी की भक्ति भावना

You cannot copy content of this page