पर्यावरण की रक्षा। ग्लोबल वार्मिंग। ताप वृद्धि का कारण।Global warming

प्रकृति और पर्यावरण के साथ मानव ने इतनी छेड़छाड़ की है कि , वह बदला लेने पर उतर आए हैं। प्रकृति बारंबार अपना रौद्र रूप दिखला कर धरती पर विनाश उपस्थित कर रही है। मानव ने ही गत 28 वर्षों में प्रकृति का असीमित शोषण कर इस विनाश को आमंत्रित किया है। यदि ” तेन …

Read moreपर्यावरण की रक्षा। ग्लोबल वार्मिंग। ताप वृद्धि का कारण।Global warming