भक्ति रस ( परिभाषा, भेद, उदाहरण ) पूरी जानकारी

भक्ति रस को मान्यता काफी लंबे समय के बाद मिली। इस लेख में आप भक्ति रस की परिभाषा, भेद, उदाहरण, स्थायी भाव, आलम्बन, उद्दीपन, अनुभाव, संचारी भाव आदि का विस्तार पूर्वक अध्ययन करेंगे। परिभाषा:– भगवान के प्रति रति प्रेम को भक्ति रस माना है। इसके आधार पर केवल भगवान से संबंधित प्रेम के ही महत्व को …

Read moreभक्ति रस ( परिभाषा, भेद, उदाहरण ) पूरी जानकारी