राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ( RSS )

हिंदू साम्राज्य दिवस | राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ | हिंदू साम्राज्य दिवस क्या है?

हिंदू साम्राज्य दिवस | राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ | हिंदू साम्राज्य दिवस

क्या है ?

 

 

हिंदू साम्राज्य दिवस

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ परिवार वर्ष में एक बार निरंतर हिंदू साम्राज्य दिवस पर्व मनाता है आ रहा है। आज जब हिंदू अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहा है ,तो यह पर्व हर हिंदू के लिए गौरव प्रदान करने का अवसर देता है। हिंदू अपने गौरव के क्षणों को याद कर सकता है ,उसके विचारों ,अपने पूर्वजों से कुछ सीख सकता है।

हिंदू साम्राज्य दिवस  क्या है?

हिंदू साम्राज्य दिवस को समझने से पहले आपको मुगलों तुर्को के आक्रमण के  समय की पृष्ठभूमि को जानना आवश्यक है। जब भारत पर यवन , तुर्क व मुगलों का आक्रमण हुआ। तब भारत में छोटी-छोटी रियासतें हुआ करती थी। राजा अपने और केवल अपने राज्य का ही भला चाहते थे जनता उस राजा के राज्य की सीमा को देश मानकर उसके प्रति अपनी भक्ति प्रकट किया करते थे। महत्वपूर्ण बात तो यह थी कि राजा आपस में एक दूसरे के प्रति कटुता वह अविश्वास का भाव रखते थे। आपस में लोग कटुता , संकुचित मानसिकता का एक उदाहरण जयचंद है। जिसने मुगलों को अपने घर में आने का निमंत्रण दिया। जयचंद के इस कृत्य से शिवाजी महाराज ने उन्हें हिंदू भाई के नाते एक पत्र लिखा। जिसमें उन्हें भारत माता व हिंदू के गौरव के प्रति अपना मत रखा और यह भी आश्वासन दिया कि वह स्वयं संपूर्ण भारत पर राज्य चाहते हैं तो मैं स्वयं  तुम्हारी सेना का अग्रणी सैनिक होऊंगा किंतु किसी विदेशी ताकत को भारत मां के आंचल को लहू से रंगने नहीं दूंगा।

एक सामान्य हिंदू इस पत्र को पढ़कर महात्मा बन जाता किंतु जयचंद एक मोड़ व लोग के वशीभूत होकर उस पत्र पर विचार नहीं किया। जिस पर शिवाजी महाराज ने हिंदू  को एकजुट करने के लिए हिंदू साम्राज्य दिवस का आरंभ किया।

 

क्यों मनाते हैं ?कारण!

वैसे तो भारत में अनेकों पर्व व उत्सव वर्ष भर चलता रहता है। किंतु यह पर्व किसी बिना भेदभाव के हिंदू की गरिमा को बनाए रखने उसके अस्तित्व की रक्षा के लिए इसे मनाना आज के संदर्भ में और उपयोगी है। क्योंकि जहां आज गैर हिंदू की जनसंख्या गुणात्मक रूप से विकास कर रही है। वही हिंदू अपने संकुचित रुप मैं सिमटा  जा रहा है। आज का समाज जहां कमाई और धन का अर्जन करने में व्यस्त है। वहीं कहीं ना कहीं मानव को अपने धर्म व आस्था से विरक्त कर रहा है। इस व्यस्त जीवन में अपने गरिमा का गुणगान करने स्वयं को संगठित करने अपने को उचित जीवन शैली को अपनाने जनकल्याण भाव को जगाने के लिए हिंदू साम्राज्य दिवस मनाना वर्तमान में और उपयोगी होता जा रहा है।

 

 

दोस्तों हम पूरी मेहनत करते हैं आप तक अच्छा कंटेंट लाने की | आप हमे बस सपोर्ट करते रहे और हो सके तो हमारे फेसबुक पेज को like करें ताकि आपको और ज्ञानवर्धक चीज़ें मिल सकें |

अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसको ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुचाएं  |

व्हाट्सप्प और फेसबुक के माध्यम से शेयर करें |

और हमारा एंड्राइड एप्प भी डाउनलोड जरूर करें

कृपया अपने सुझावों को लिखिए हम आपके मार्गदर्शन के अभिलाषी है 

facebook page hindi vibhag

YouTUBE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *